विश्व पर्यावरण दिवस विशेष – अपने पर्यावरण के लिए उठाओ ये कदम | World Environment Day Facts in Hindi

World Environment Day Facts in Hindi | विश्व पर्यावरण दिवस विशेष
World Environment Day Facts in Hindi | विश्व पर्यावरण दिवस विशेष

हर साल पांच जून को पर्यावरण दिवस (World Environment Day) मनाया जाता है जानते हो क्यों ? क्योंकि प्रदुषण से पर्यावरण (Environment) को नुकसान पहुच रहा है जो हमारे और अन्य जीवो की सेहत के लिए बहुत खतरनाक है इसलिए इस दिन (World Environment Day) को विश्व में पर्यावरण (Environment) के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है आप भी अपनी भागीदारी पर्यावरण (Environment) को बचाने में कर सकते हो |

Loading...

01 पानी की बर्बादी रोको

कई बार छोटी छोटी आदतों से पानी की काफी बर्बादी होती है | क्या आप जानते हो कि लापरवाही से नल खुला छोड़ देने (ब्रश करते समय , पेड़-पौधों को पानी देते समय , गाडी धोते समय आदि) से एक दिन में तकरीबन 8 गैलन पानी बर्बाद होता है | यदि एक व्यक्ति सावधानी बरते तो 8 गैलन पानी बच सकता है | यदि एक शहर के लोग भी ऐसा करे तो लाखो गैलन पानी बच सकता है अत: आप आज से सावधानी बरतो और घर के बड़ो को भे समझाओ | गाडी धोने के लिए पानी की बाल्टी ले सकते है नहाते समय भी बाल्टी में पानी लेकर नहाने से पानी की बचत होती है पेड़-पौधे को सीधे पाइप से पानी मत दो किसी बड़े बर्तन से देना सही है यदि कोई नल या टंकी से पानी रिश्ता है तो समझ लो कि एक साल में 20 हजार लीटर पानी बर्बाद हो रहा है इसलिए उसे तुंरत ठीक कराओ |

02 पालीबैग को कहो ना

जो पालीबैग यूज़ किये जाते है उन्हें Decompose होने में कई सौ साल लगते है जो पर्यावरण के लिए काफी नुकसानदेह है यदि इनकी जगह पेपर बैग या जुट का प्रयोग किया जाता है तो उन्हें Decompose होने में मात्र तीन-चार हफ्ते लगते है इसलिए पालीबैग की जगह पेपर बैग या जुट के बैग का प्रयोग सही है और दुसरो को भी यही सलाह दो |

03 इन उपायों से बिजली बचाओ

छोटी लापरवाही से बिजली भी काफी बर्बाद होती है अत: जरूरत न होने पर घर के टीवी ,फ्रिज ,पंखे , कंप्यूटर ,लाइट आदि बंद करो | कई बार टॉयलेट जाते समय लाइट ऑन करते है और वापस ऑफ़ नही करते है | जितनी जरूरत है उतनी ही बिजली प्रयोग करे तो साल भर में हजारो किलो कार्बन डाई ऑक्साइड बनने से रोक सकते है | बिजली कम खर्च करने वाले उपकरणों का प्रयोग भी बेहतर उपाय है बल्ब की जगह CFL प्रयोग करो इससे 60-80 फीसदी बिजली बचाई जा सकती है | डेस्कटॉप के बदले लैपटॉप प्रयोग करना बेहतर है क्योंकि लैपटॉप डेस्कटॉप के मुकाबले पांच गुना कम बिजली खपत करता है | इन उपायों से बिजली तो बचेगी ही पर्यावरण (Environment) भी सुरक्षित रहेगा | सोलर एनर्जी का प्रयोग करना भी बेहतर है |

04 पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग

वाहनों से निकलने वाले धुएं से भी प्रदुषण होता है यदि सडक पर 60 कारे चल रही है तो उनसे प्रदुषण अधिक होगा , वही 60 कारो में बैठे लोग एक बस में चले तो प्रदुषण 60 गुना कम होगा |वही पेट्रोल और डीजल की खपत भी कम होगी | हम सभी को पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग करना चाहिए और घर के बडो को भी इसके प्रति प्रोत्साहित करना चाहिए |

05 एक पौधा जरुर लगाओ

पेड़-पौधे भी साँस लेते है वे हमारे द्वारा पर्यावरण (Environment) में छोड़ी जाने वाली कार्बनडाई ऑक्साइड का प्रयोग करते है और हमे ऑक्सीजन भी देते है | ऐसे में यदि एक व्यक्ति एक पौधा भी लगाये तो पर्यावरण भे कार्बनडाईऑक्साइड की मात्रा कम होगी साथ ही ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ेगी | पौधा बड़ा होकर जब पेड़ बनेगा तो छाया भी देगा |

06 नेचुरल जूस है फायदेमंद

बाजार में मिलने वाले पाली पैक जुसे में आर्टिफीसियल फ्लेवर का प्रयोग होता है इनकी जगह नेचुरल जूस को तरजीह देंगे तो पर्यावरण के लिए ज्यादा हितकर है इससे ज्यादा nutrients मिलेंगे , साथ ही नेचुरल जूस का प्रयोग करने से पेड़-पौधे लगाने वाले किसानो को भी इसका लाभ मिलेगा | इससे वे ओर अधिक पेड़-पौधे लगायेंगे ताकि नेचुरल जूस की मांग के अनुसार आपूर्ति हो |

07 कॉपी मत छोड़ो अधूरी

कागज पेड़ से बनता है इसलिए कागज पुरी तरह से प्रयोग करो | कई बार छात्र कॉपी अधूरी छोडकर नई कॉपी का प्रयोग करना शुरू कर देते है ऐसा मत करो | बाकी बचे पेजों को रफ वर्क में इस्तेमाल कर सकते हो | ऐसा करने से लाखो पेड़ो को कटने से बचाया जा सकता है घर में भी किसी को पेपर वेस्ट मत करने दो | दुनिया भर में एक दिन में जितने टिश्यूपेपर का प्रयोग होता है उन्हें बनाने के लिए लाखो पेड़ो का प्रयोग होता है यदि इनकी जगह रुमाल का प्रयोग करे तो लाखो पेड़ो को बचाया जा सकता है |

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *