Home निबन्ध “विज्ञान के चमत्कार” पर निबन्ध | “Wonders of Science” Essay in Hindi

“विज्ञान के चमत्कार” पर निबन्ध | “Wonders of Science” Essay in Hindi

91
0
SHARE
"विज्ञान के चमत्कार" पर निबन्ध | "Wonders of Science" Essay in Hindi
“विज्ञान के चमत्कार” पर निबन्ध | “Wonders of Science” Essay in Hindi

आज के युग में विज्ञान का प्रभाव जीवन के सभी क्षेत्रो में दिखाई पड़ता है | सभी ओर वैज्ञानिक साधनों का बोलबाला है | यही तो वैज्ञानिक चमत्कार है कि मनुष्य का मन , आत्मा और शरीर वैज्ञानिक साधनों के बल पर अपना कार्य करने लगा है | प्राचीनकाल में विज्ञान का बोलबाला सभी देशो में नही था | श्री रामचन्द्र को “ब्रह्मास्त्र” चलाने की विद्या विश्वामित्र नहे सिखाई थी |

प्राचीन ग्रथो में वर्णन मिलता है कि लंका के राजा रावण के पास अनेक वैज्ञानिक अविष्कार थे इसलिए वह भयंकर युद्ध लड़ सकता था | पुष्पक विमान की कहानी भी हमे रामायण में पढने को मिलती है | इसके अतिरिक्त सीर शिरोमणी अर्जुन के वर्षा अथवा आग बरसाने वाले बाणों की कथाये भी हमारे देश में प्रसिद्ध है | इन सबको हम वैज्ञानिक चमत्कारों का नाम दे सकते है परन्तु ये चमत्कार अब पुराने पड़ गये है | इंद्र का वज्र यदि विद्युत है तो भी सुंदर कल्पना ही है |

विज्ञान के चमत्कारों में बिजली का चमत्कार सबसे अधिक उपयोगी है | संसार भर में बिजली का प्रयोग किया जाता है | मशीनरी के सभी यंत्र बिजली के सहारे चलते है | घरो में तापमान एवं प्रकाश को पाप्त करने का साधन यह बिजली ही है | इसके बिना जीवन को अनेक कठिनाइयो का सामना करना पड़ सकता है |

आकाश में उड़ने वाले हवाई जहाजो का आविष्कार राईट बंधुओ ने किया था | तब आकाश यात्रा का पहला चरण आरम्भ हुआ था | परन्तु धीरे धीरे ये हवाई जहाज युद्धों के लिए अपने उपयोग सिद्ध करने लगे | अब तो जेट विमानों का युग है | आजकल तेज गति से चलने वाले सुपरसोनिक विमान आकाश में उड़ते है | इनकी गति आवाज से भी अधिक होती है और मार भी दूर तक सकते है | हवाई जहाज का युग तो अब लद ही गया है क्योंकि राकेटो और रडारो ने अब युद्ध का संचालन आकाश में करने का युग ला दिया है |

हवाई जहाजो का युद्ध आकाश का ही है | समुद्र में भी वैज्ञानिक चमत्कारों ने आपना जाल फ़ैला दिया है | समुद्र की भीतरी सतह तक जाने वाले कई वैज्ञानिक अविष्कार सामने आ गये है | समुद्र के संसार को खोजकर सामने लाने के लिए इन वैज्ञानिक साधनों ने कमाल कर दिया है | समुद्री जहाज एवं पनडुब्बिया अपना जौहर दिखाती है | पानी के भीतर चलने वाले नये नये वैज्ञानिक साधन बन गये है जिनका उपयोग मानव-सेवा और मानव-विनाश के लिए किया जा रहा है |

युद्धों में प्रयुक्त होने वाले अनेक प्रकार के समुद्री जहाज सामने आये है | इन जहाजो कोए देखकर लगता है कि एक रहने-सहने का संसार ही इन जहाजो में बस गया है | दुसरी ओर परमाणु बम ने संसार नष्ट करने का बीड़ा उठाकर मानव की बुद्धि को ही चमत्कृत कर दिया है यद्यपि परमाणु बम से मानव जाति का कल्याण करने वाले अविष्कार भी पैदा हो गये है परन्तु हाइड्रोजन एवं नाइट्रोजन जैसे बम कितने घातक बन गये है |

रेडियो विज्ञान एक ऐसा चमत्कार है जिससे मनुष्य का जीवन मनोरंजनमय बन गया है | लोग रेडियो के समाचार एवं वार्ताए सुनते है | रेडिओ दैनिक मनोरंजन तो करता ही हिया युद्ध और शान्ति काल में प्रचार का प्रमुख साधन भी सिद्ध होता है | दैनिक रूप से सारे संसार के बड़े बड़े समाचारों को जन-साधारण तक पहुचने का साधन रेडियो है | रेडियो का संबध इश्वर और आकाश से है | सारे संसार में रेडियो का राज छा गया है | रेडियो ने सारी धरती को एक कर दिया है |

विज्ञान का जितना चमत्कारपूर्ण प्रभाव धरती के मानव् पर रेडियो ने डाला है सम्भवत: उतना प्रभाव अन्य साधनों ने नही डाला है | वह सबसे अधिक मनोरंजनपूर्ण अविष्कार है | समाचारपत्र भी वैज्ञानिक साधनों के द्वारा ही लोगो के घर प्रतिदिन पहुचते है | संसार भर के समाचारों को पहचानेवाली मशीने हर देश में लगी हुयी दिन रात चलती रहती है | हवाई जहाज , रेले , मोटर कारे भी समाचार पत्र पहुचाती है |

टेलीविजन भी रेडियो का अगला अविष्कार है | जहां रेडियो अंधे को भी आनन्द देता है वहां टेलीविजन से केवल आँख वालो को आनन्द मिलता है | बोलने वाला , भाषण देने वाला और यहाँ तक कि पढाने वाला प्राध्यापक भी चलता फिरता दिखाई देता है | उनकी आवाज और चेष्टाये भी सूनी और देखी जा सकती है | टेपरिकॉर्डर से संसार के बड़े बड़े नेताओ के भाषणों को अपने में बाँध दिया है | अब तो टेपरिकॉर्डर और ट्रांसिस्टर इकट्ठे मिलने लगे है | इन्हें Two in One कहते है | रंगीन विडियो पर मनपसन्द चलचित्र देखे जात्ते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here