सुंदरवन से जुड़े रोचक तथ्य | Sundarbans and Sundarban National Park Facts in Hindi

सुंदरवन से जुड़े रोचक तथ्य | Sundarbans and Sundarban National Park Facts in Hindi
सुंदरवन से जुड़े रोचक तथ्य | Sundarbans and Sundarban National Park Facts in Hindi

सुंदरवन (Sundarban) नाम लेते ही आपके मन में एक छवि उभर कर आती है जो हरे बढ़े घने जंगलो के बीच वन्य जीवो की एक झलक को पेश करता है | सुंदरवन ना केवल भारत बल्कि विदेशो से आये लोगो के लिए भी आकर्षण का बड़ा केंद्र है क्योंकि सुंदरवन (Sundarban) एक इतना बड़ा प्राकृतिक क्षेत्र है जहा आपको अनेको वनस्पतियों और वन्य जीवो की भरमार देखने को मिलेगी | आज हम इसी सुंदरवन से जुड़े रोचक तथ्य आपके सामने पेश कर रहे है |

  1. सुंदरवन (Sundarban) नाम सुंदरवन में भारी संख्या में मिलने वाले सुन्दरी पेड़ो से लिया गया है और साथ ही बंगाली भाषा में शुंदोर का प्रयोग करके इसका नाम सुंदरवन रखा गया |
  2. सुंदरवन का इतिहास 200-300 ईस्वी के आसपास का माना जाता है इसके प्रमाण बागमरा फारेस्ट ब्लाक में मिले अवशेषों से पता चलता है |
  3. मुगल शासन ने जब इस वन को किराए पर लिया था तो कई अपराधी मुगल सेना से बचने के लिए सुंदरवन में छिप जाते थे लेकिन अधिकतर टाइगर के वार से बच नही पाते थे |
  4. 1757 में ईस्ट इंडिया कम्पनी ने सुंदरवन के सारे अधिकारों को मुगल सम्राट आलमगीर द्वितीय से ले लिए | इसके बाद 1860 के बाद बंगाल में फारेस्ट डिपार्टमेंट बनने का बाद अंग्रेजो ने सुंदरवन का संरक्षण किया |
  5. सुंदरवन से होकर बंगाल की खाड़ी में गिरने वाली प्रमुख नदियाँ गंगा , ब्रह्मपुत्र ,पद्मा और मेघना नदी है |
  6. सुंदरवन 10,000 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला हुआ है जिसमे से 6000 वर्ग किमी बांग्लादेश में आता है | इसमें से भारत के हिस्से में 4110 वर्ग किमी आता है |
  7. 2015 के आंकड़ो के आधार पर सुंदरवन में 180 टाइगर है जिसमे से 106 बांग्लादेश की सीमा में और 74 भारत की सीमा में आते है | टाइगर के हमले से हर वर्ष लगभग 50 लोग मारे जाते है |
  8. सुंदरवन (Sundarban )में विडो विलेज के नाम से एक गाँव कुख्यात है जहा परिवार के अधिकतर पुरुषो की मौत टाइगर से हमले से हो जाने के कारण औरत विधवा हो चुकी है |
  9. सुंदरवन विश्व का सबसे बड़ा मंग्रोव वनस्पति वाला जंगल है मतलब कि ये जंगल हमेशा दलदल से घिरा रहता है | मंग्रोव के बारे में अपने बचपन में पढ़ा होगा कि जिनके पेड़ो की जड़े जमीन से बाहर निकल आती है उसे मैंग्रोव वृक्ष कहते है |
  10. सुंदरवन (Sundarban) विश्व का सबसे बड़ा डेल्टा है | गंगा और ब्रह्मपुत्र दोनों नदियों के एकीकरण से बने इस डेल्टा को बंगाल डेल्टा या ग्रीन डेल्टा भी कहते है |
  11. सदाबहार रहने वाले सुंदरवन को UNESCO World Heritage Site में शामिल किया गया है जिसकी वजह से इसका संरक्षण काफी बड़े स्तर पर हो रहा है |
  12. सुंदरवन रॉयल बंगाल टाइगर का घर भी है जहा पुरे विश्व में सबसे ज्यादा टाइगर निवास करते है | इस विलुप्त होती प्रजाति के संरक्षण का दायित्व अब सिर्फ सुंदरवन के हाथ में है |
  13. ये उष्णकटिबंधीय डेल्टा विश्व में ज्वारीय हेलोफाईट मंग्रोव वन से बड़ा सबसे बड़ा क्षेत्र है जहा आपको विविध वनस्पतिया देखने को मिल जायेगी |
  14. सुंदरवन के विशाल डेल्टा में 5-6 द्वीप नही बल्कि 54 छोटे छोटे द्वीपों का समूह बन चूका है |
  15. सुंदरवन में ट्रांसपोर्ट का एकमात्र माध्यम बोट है क्योंकि यहा इंसान जंगल के रास्ते तो बाहर आ ही नही सकता जबकि पानी के रास्ते से आसानी से बाहर निकल सकता है |
  16. सुंदरवन डेल्टा बंगाल बेसिन से जुड़ा विश्व का सबसे चौड़ा , गहरा और सबसे सक्रिय डेल्टा है जिसकी वजह से यहा की वनस्पति और वन्य जीवो में विविधताये है |
  17. सुंदरवन में भारत का सबसे बड़ा फिशरी बोर्ड है जहा सुंदरवन डेवलपमेंट बोर्ड 50 हेक्टेयर के इलाके में फिशरी प्रोजेक्ट चलाता है |
  18. सुंदरवन में स्तनधारियो की 50 से अधिक प्रजातियाँ निवास करती है जिसमे रोयल बंगला टाइगर , लगभग 60 रेंगने वाले जीवो की प्रजातियाँ , 300 से अधिक पक्षियों की प्रजातियाँ और 300 से अधिक वनस्पतियों की प्रजातियाँ है |
  19. सुंदरवन फोटोग्राफी की चाह रखने वालो के लिए स्वर्ग समान है क्योंकि इस सुंदर घने जंगल के दृश्यों के साथ ही विविध वन्य जीवो को भी यहा फिल्माया जा सकता है | इसी कारण डॉक्यूमेंट्री बनाने वाली कई कम्पनियो ने यहा की विविधताओ को अपने कैमरे में कैद कर पुरे विश्व तक पहुचाया है |
  20. सुंदरवन में पल पल खतरा भी बना रहता है यहा पर आपको सांप और मगरमच्छ भी मिल जायेंगे जिनसे आपको बचना पड़ता है क्योंकि ये घने जंगल में आसानी से नजर नही आते है और आपको नुक्सान पहुचा सकते अहि इसलिए तट के करीब सम्भलकर रहना चाहिए |
loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *