Smog से जुड़े जहरीले तथ्य , जो आपकी उम्र को कर है कम | Smog Facts in Hindi

Smog Facts in Hindi
Smog Facts in Hindi

पिछले कुछ दिनों से देशी राजधानी नई दिल्ली Smog की चपेट में है दरअसल गाडियों और फक्ट्रियो से निकलने वाली खतरनाक गैस ,धुएं और कोहरे के मेल से Smog बनता है | Smog का असर हवा में कई दिनों तक रह सकता है | तेज हवा चलने या बारिश के बाद ही Smog का असर खत्म होता है | स्मॉग वो जहर है जो किसी को भी बहुत बीमार कर सकता है | स्मॉग गाडियों और फक्ट्रियो से निकले धुएं से मौजूद राख , सल्फर ,नाइट्रोजन , कार्बन-डाई-ऑक्साईड आदि जब कोहरे के सम्पर्क में आती है तो Smog बनता है | आइये Smog से जुड़े आपको भयावह तथ्य बताते है |

Loading...
  • दिल्ली ,बीजिंग या फिर पेरिस विकास की राह में आगे बढ़ रहे लगभग सभी देश के बड़े शहर Smog नाम के खतरे का सामना कर रहे है |
  • Smog शब्द का इस्तेमाल 20वी सदी की शुरुवात से हो रहा है यह शब्द अंग्रेजी के दो शब्दों Smoke और Fog से मिलकर बना है |
  • आमतौर पर जब ठंडी हवा किसी भीडभाड वाली जगह पर पहुचती है तब Smog बनता है चूँकि ठंडी हवा भारी होती है इसलिए वह भीड़ वाले इलाके की गर्म हवा के नीचे एक परत बना लेती है तब ऐसा लगता है जैसे ठंडी हवा ने पुरे शहर को एक कम्बल की तरह लपेट लिया है |
  • विश्व स्वास्थ्य संघठन काफी समय से चेतावनी देता आया है कि सूक्ष्म पार्टिकुलेट कण , ओजोन ,नाइट्रोजन मोनोऑक्साइड और सल्फर डाईऑक्साइड लोगो की सेहत के लिए बहुत खतरनाक है |
  • पिछले सालो में WHO ने बार बार कहा है कि इन हानिकारक पदार्थो के लिए एक सीमा तय करनी चाहिए नही तो बड़े शहरों में रहने वाले लोगो को बहुत नुकसान पहुचेगा |
  • जाड़ो में जब Smog का मौसम चल रहा होता है तब गाड़ीयो के धुएं से मिलने वाले ये सूक्ष्म कण बहुत बड़ी समस्या खडी कर देते है  इन सूक्ष्म कणों की मोटाई करीब 2.5 माइक्रोमीटर होती है और आपने इतने छोटे आकर के कारण यह साँस के साथ फेफड़ो में घुस जाते है और बाद में हृदय को भी नुक्सान पहुचा सकते है |
  • गर्मियों में जब Smog बनता है तो सबसे बड़ी समस्या ओजोन की होती है | कारो के धुएं में जो नाइट्रोजन ऑक्साइड एवं हाइड्रोकार्बन्स होते है वे सूर्य की रोशनी में रंगहीन ओजोन गैस में बदल जाते है | ओजोन उपरी वातावरण में एक रक्षा परत बनाकर हमे सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाता है |
  • वायु प्रदुषण की वजह से समय से पहले होने वाली मौतों मामल में चीन पहले नम्बर पर है और भारत दुसरे नम्बर पर है |
  • एक रिपोर्ट के अनुसार 2015 में वायु प्रदुषण की वजह से चीन में 11 लाख से ज्यादा लोग मारे गये जबकि भारत के 10 लाख 90 हजार लोग वायु प्रदुषण का शिकार हुए |
  • दुनिया के 90 प्रतिशत लोग आज भी अशुद्ध हवा में सांस लेते है |

Smog से कैसे बचे

  • सुबह और शाम बाहर न निकले |
  • अच्छी क्वालिटी का मास्क पहने |
  • धुप निकलने के बाद टहले |
  • खुब पानी पीये
  • स्वस्थ खाना खाए |
  • अच्छी तरह हाथ-मुंह धोये
  • सांस लेने में तकलीफ हो तो डॉक्टर की सलाह ले |
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *