कोल्हापुर के प्रमुख पर्यटन स्थल | Kolhapur Tour Guide in Hindi

Kolhapur Tour Guide in Hindi
Kolhapur Tour Guide in Hindi

महाराष्ट्र राज्य में स्थित कोल्हापुर शहर एक धार्मिक स्थल है जहां प्रति वर्ष लाखो श्रुधालू दर्शन करने आते है | कई सौ साल पहले अस्तित्व में आया यह क्षेत्र सह्याद्री पर्वत श्रेणियों के पास ही स्थित है | इस क्षेत्र को कोल्हापुर बनाने का श्रेय छत्रपति ताराबाई को जाता है | ताराबाई के बाद कोल्हापुर की देखभाल और सत्ता छत्रपति शाहू जी महाराज के हाथो में आ गयी थी | उन्होंने इस इलाके में सामाजिक और शैक्षिक विकास किये |

कोल्हापुर के प्रमुख आकर्षण

कोल्हापुर का हर स्थल एतेहासिक महत्व रखता है | यहाँ का शाहू म्यूजियम भी काफी पुराना है | कोल्हापुर के कुशबाग़ मैदान में कुश्ती का अभ्यास किया जाता है | प्रकृति प्रेमी यहाँ स्तिथ झीलों के किनारे आकर अच्छा समय बिता सकते है | यहाँ की रणकला चौपाटी बहुत काल्पनिक जगह है जहां बच्चो को बहुत अच्छा लगता है | आप कोल्हापुर आये तो यहाँ की मिसाल मानी जाने वाली चप्पलो को खरीदना न भूले | पर्यटक यहाँ आकर ढेर सारी शॉपिंग कर सकते है | कोल्हापुर में चमड़े का सामान काफी अच्छा मिलता है | खाने के मामले में यहाँ का तामडा रसा बहुत ख़ास है यहाँ कई प्रकार के भोजन मिलते है | कोल्हापुरी मसालेदार भोजन का स्वाद यहाँ चखा जा सकता है | कोल्हापुर के बारे में एक ओर बात बहुत ख़ास है जिसे बहुत कम लोग जानते है | यहाँ पर ही भारत की पहली फिल्म “राजा हरिश्चन्द्र” बनाई गयी थी |

ऐसे पहुचे कोल्हापुर

जहाज द्वारा – हवाई यात्रा करने वाले पर्यटक कोल्हापुर के उज्लावाडी एयरपोर्ट तक आराम से आ सकते है जो देश के कई शहरों से जुड़ा हुआ है | एअरपोर्ट से 300 रूपये टैक्सी किराए पर लेकर आप पूरा शहर घूम सकते है |

ट्रेन द्वारा – यहाँ के रेलवे स्टेशन का नाम छत्रपति शाहूजी महाराज टर्मिनस है जहां से देश के कई शहरों के लिए ट्रेन मिलती है |

आस-पास के आकर्षण

पन्हाला किला – पन्हाला किला कोल्हापुर-रत्नागिरी मार्ग पर स्थित है तथा 7 किमी क्षेत्र में फैला है | सांपो जैसी बनावट के कारण इसे सांपो का किला भी कहा जाता है | इस एतेहासिक किले से छत्रपति शिवाजी महाराज की यादे जुडी है | यह किला पवन खंड की लड़ाई , मराठा राजा , सरदार बाजी प्रभु देशपांडे और मुगल सम्राट आदिल शाह के सिद्द्दी मसूद के बीच हुयी लड़ाइयो के लिए प्रख्यात है | इस किले में महाकाली , अम्बाबाई , सोमेश्वर और सम्भाजी द्वीतीय के मन्दिर है |

मसाई पठार – कोल्हापुर से करीब 28 किमी दूर मसाई पठार पन्हाला किले के पीछे स्थित है | कोल्हापुर से मसाई पठार तक पहुचने में एक घंटा लगता है | यह ट्रेक्केर्स के बीच में काफी लोकप्रिय है क्योंकि यह पश्चिमी सह्याद्री श्रेणी की लुभावनी प्राकृतिक सुन्दरता से घिरा हुआ है | यह एक पहाडी पर स्थित एक विस्तृत चारागाह तथा पक्षियों की कई प्रजातियों का घर है | यहाँ कुछ अन्य जगहे भी है जो सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करती है | इस पठार पर मसाई देवी का मन्दिर देखा जा सकता है |

चिपलून – कोल्हापुर से करीब 165 किमी की दूरी पर स्थित रत्नागिरी जिले में स्थित चिपलून एक पर्यटन स्थल है | पुणे और कोल्हापुर से भी चिपलून बड़ी आसानी से पहुचा जा सकता है | पूर्व और पश्चिम में अरब सागर के पश्चिमी घाट के बीच स्थित चिपलून का मौसम हमेशा खुशगवार रहता है | वशिष्ट नदी के किनारे बसा होने के कारण यहाँ आने वाले पर्यटक ट्रैकिंग और नौका विहार दोनों का आनन्द ले सकते है |

गुहागर – कोल्हापुर से करीबन 214 किमी की दूरी पर स्थित गुहागर समुद्री तट वीकेंड बिताने के लिए आदर्श है | यहाँ आपको एक तरफ लहराता अरब सागर और दुसरी तरफ विशाल सह्याद्री पर्वत श्रुंखला देखने को मिलेगी | यहाँ काफी स्वच्छ और शातं वातावरण वाले समुद्र तट है जहां सूर्य की रोशनी पड़ते ही पानी और रेट जगमगा उठते है | यहाँ नारियल के पेड़ो की भरमार है |

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *