Indian Hockey Team से जुड़े 25 रोचक तथ्य | Indian Hockey Team Facts in Hindi

Indian Hockey Team Facts in Hindi
Indian Hockey Team Facts in Hindi

पिछले कुछ दशको से हॉकी भारत के सबसे लोकप्रिय खेलो में से एक के रूप में जाना जाने लगा है | इन दिनों इस खेल में खिलाडियों को उतना ही सम्मान और प्यार मिल रहा है जितना क्रिकेट के खिलाडियों को मिलता है | इंडियन हॉकी टीम (Indian Hockey Team) के लिए खेलना हर युवा खिलाड़ी का ध्येय बन गया है | आइये आपको इंडियन हॉकी टीम से जुड़े रोचक तथ्य बताते है जिन्हें पढकर आपको भारतीय टीम पर गर्व होगा |

Loading...
  1. भारत पहला गैर-यूरोपीय देश था जो अंतर्राष्ट्रीय हॉकी फेडरेशन (International Hockey Federation) में सम्मिलित हुआ | भारत 1928 में FIH में सम्मिलित हुआ था |
  2. Indian Hockey Team भारत की पहली Sports टीम है जिसने 1926 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड , 1928 में यूरोप और 1932 में जापान / अमेरिका में कदम रखा था |
  3. 1932 में इंडियन हॉकी टीम भारत की पहली स्पोर्ट्स टीम बनी जिसने विश्व भ्रमण किया | भारतीय हॉकी टीम ने उस समय कोलोंबो , मलाया , टोक्यो ,लोस एंजेल्स , ओमाहा , फिलाडल्फिया , एम्स्टर्डम , बर्लिन , पराग्वे , और बुडापेस्ट में हॉकी मैच खेले थे |
  4. Indian Hockey Team ने हॉकी के पुल मैच में सबसे बड़े अंतर से जीत दर्ज कर रखी है | भारत ने USA को 1932 ओलपिक में 24-1 से पराजित किया था |
  5. सबसे ज्यादा लगातार जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड भी भारतीय टीम के पास है | भारत ने 1928 से लेकर 1960 तक लगातार 30 जीत दर्ज की थी जो रिकॉर्ड कोई नही तोड़ पाया |
  6. पंजाब के संसारपुर गाँव ने भारत को 9 ओलिंपियन दिए है जिनके नाम है गुरमीत सिंह , उधम सिंह , दर्शन सिंह ,जगजीत सिंह , बलबीर सिंह (सर्विसेज) , बलबीर सिंह (पंजाब) , तारसेन सिंह और वर्ल्ड कप के विजय कप्तान अजितपाल सिंह शामिल है |
  7. अधिकतर इंडियन हॉकी टीम के खिलाडियों का उपनाम “सिंह” रहता है |
  8. इंग्लैंड ने 1928 से लेकर 1947 तक एक भी Hockey Olympic में भाग नही लिया क्योंकि इंग्लैंड उस देश से नही हारना चाहता था जिस पर उसने राज किया था |
  9. जनवरी 2015 तक केवल पांच विदेशियों ने इंडियन हॉकी टीम के कोच का पद सम्भाला है और पांचो अपने टर्म से पहले ही छोडकर चले गये |
  10. 1928 से लेकर 1956 तक इंडियन हॉकी टीम ने 24 मैच खेले , जिसमे उन्होंने 178 गोल किये लेकिन केवल 7 गोल ही मान्य हुए |
  11. धनराज पिल्लै एकमात्र इंडियन हॉकी खिलाड़ी है जिसने 3 ओलिंपिक गेम , 3 वर्ल्ड कप और 4 एशियाई खेलो में भाग लिया है |
  12. भूतपूर्व हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर ने Olympic फाइनल में सबसे ज्यादा गोल करने का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बना रखा है |
  13. अजित सिंह ने एक गोल में दो वर्ल्ड रिकॉर्ड बना रखे है 1976 Olympic में अजित सिंह ने Artificial Pitch पर पहला गोल करने का रिकॉर्ड बना रखा है तथा ये गोल उन्होंने केवल 15 सेकंड में किया जो Olympic इतिहास में सबसे तेज गोल है |
  14. भूतपूर्व गोलकीपर रिचर्ड एलन ने olympic इतिहास में सबसे कम गोल करने का रिकॉर्ड बना रखा है उन्होंने 3 Olympic खेलो में केवल 2 गोल किये है |
  15.  Beighton Cup भारत का सबसे पुराना हॉकी टूर्नामेंट है जो 1895 में शुरू हुआ था और ये लगातार अब तक आयोजित हो रहा है | यहा तक कि वर्ल्ड कप भी इसको प्रभावित नही कर सका |
  16. सिख समुदाय 1928 से लेकर अब तक हर olympic हॉकी टीम का सदस्य रहा है वर्तमान में सरदार सिंह ने हॉकी टीम (Indian Hockey Team) की कमान सम्भाल रखी है |
  17. भारत ने 1968 ओलंपिक में जापान को बिना गोल किये 5-0 से पराजित कर दिया क्योंकि एक फैसला जापान के विरुद्ध जाने के कारण उन्होंने मैदान पर आने से मना कर दिया था |
  18. Olympics में भारतीय हॉकी टीम सबसे सफल टीम है जिसने अब तक आठ ओलंपिक गोल्ड मेडल जीत रखे है हालांकि पाकिस्तान ने भी भारत की बराबरी करते हुए आठ मैडल जीत रखे है |
  19. हॉकी वर्ल्ड कप में भारत का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा है 1971 से शुरू हुए हॉकी वर्ल्ड कप एक अब तक 13 टूर्नामेंट हो चुके है लेकिन 1975 में एक बार ही भारत वर्ल्ड कप अपने नाम कर पाया है जबकि 1973 में दुसरे और 1971 में तीसरे स्थान पर रही |
  20. हॉकी चैंपियंस ट्राफी का खिताब कभी भारत अपने नाम नही कर पायी जो 1978 से शुरू हुआ | हालांकि 2016 में भारतीय हॉकी टीम बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए फाइनल में पहुची थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया से हार गयी |
  21. Commonwealth Games में भारतीय हॉकी टीम में काफी अच्छा प्रदर्शन किया | 1998 में शुरू हुए Commonwealth Games में पिछले दो Commonwealth Games 2010 और 2014 में भारतीय हॉकी टीम फाइनल तक पहुच गयी थी लेकिन कॉमनवेल्थ की अजेय टीम ऑस्ट्रेलिया को नही हरा पायी |
  22. Asian Games में भारतीय हॉकी टीम का प्रदर्शन बेहद लाजवाब रहा है और 1958 से अब तक हुए 15 टूर्नामेंट में 3 बार ट्राफी अपने नाम की है और 9 बार फाइनल तक पहुची है | एशियाई खेलो में 9 बार भारत-पाकिस्तान फाइनल में आमने-सामने हुयी लेकिन 7 बार पाकिस्तान की जीत हुयी जबकि 2 बार ही भारत जीती |
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *