Telecom Industry में अपना करियर कैसे बनाये | Telecom Industry Career Guide in Hindi

Loading...
Telecom Industry Career Guide in Hindi
Telecom Industry Career Guide in Hindi

अच्छी नौकरी पाने के इच्छुक युवाओं के लिए Telecom Industry सम्भावनाओं के नये द्वार खोल रही है | पिछले दिनों आई एक रिपोर्ट के मुताबिक़ अगले पांच वर्षो में भारतीय Telecom Industry में नौकरियों के करीब 40 लाख नये अवसर पैदा होंगे | Telecom Industry में उपलब्ध करियर विकल्पों और उससे जुड़ने के लिए संबधित कोर्सेज़ की जानकारी दे रहे है |

आर्थिक उदारीकरण क एबाद Telecom Industry के स्वरूप में व्यापक बदलाव आये , खासकर Telecommunication Engineering ने युवाओं के सपने को एक नये पंख दिए | इसके अवतरण के साथ की कार्यक्षेत्र का दायरा भी तेजी से बढ़ा | इस Sector ने भौगौलिक व्यवस्था लांघते हुए शहर से लेकर गाँव तक रोजगार के नये विकल्प पैदा किये है |

सामान्य तौर पर कहा जा सकता है कि Telecommunication Engineering , इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग की ही एक महत्वपूर्ण शाखा है | इसके कम्युनिकेशन केइ कई सिद्धांतो को मिलाकर ट्रांसमिशन ,Digital Signal ,नेटवर्क संबधी कार्य आसानी से किये जा सकते है | यह क्षेत्र इंजीनियरिंग की कई परम्परागत शाखाओं से हटकर है |

Telecom Industry से जुडी जानकारी

टेलिकॉम इंडस्ट्री भारत के सबसे तेजी से विकसित होते उद्योगों में से है यही कारण है कि भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा Telecommunication Market बन चूका है | पिछले दो दशको में यह इंडस्ट्री 35 प्रतिशत की दर से विकास कर रही है और आने वाले पांच वर्षो में इस सेक्टर में 40 लाख नई जॉब्स पैदा होने की सम्भावनाये है | ये जॉब्स मुख्यतः तकनीशियन ,इंजिनियर एवं मेंटेनेंस सर्विस प्रोवाइडर के रूप में सृजित होगी | इन आंकड़ो की पृष्टि इस तथ्य से भी होती है कि पिछले वर्ष स्मार्टफोन बाजार में 171 प्रतिशत की वृद्धि आंकी गयी थी जो अब ओर बढ़ चुकी है |

कब कर सकते है Course

बेचलर , मास्टर , डिप्लोमा और पी.जी.डिप्लोमा हर तरह के कोर्स मौजूद है , चार वर्षीय बेचलर कोर्स में प्रवेश पाने के लिए छात्रों का 12वी परीक्षा PCM (भौतिक विज्ञान , रसायन विज्ञान और गणित) के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है जबकि दो वर्षीय Post Graduate कोर्स के लिए उसी Stream में B.E./B.Tech. की डिग्री माँगी जाती है , डिप्लोमा एवं P.G.डिप्लोमा के कोर्स ज्यादातर एक या दो वर्ष के होते है |

Theory और Practical दोनों का हो ज्ञान

टेलीकम्यूनिकेशन से संबधित जितने भी कोर्स है वे छात्रों को प्रायोगिक और सैधांतिक दोनों तरह की जानकारी प्रदान करते है | इनके कोर्स में नेटवर्क सिस्टम की डिजाइनिंग ,installing , टेस्टिंग ,रिपेयरिंग अदि कौशल से रुबुरु हुआ जा सकत है | सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट ,टेलिकॉम मार्केटिंग ,नेटवर्क मैनेजमेंट ,नेटवर्क सिक्यूरिटी संबधी जानकारी भी कोर्स के दौरान दी जाती है |

Skills जो बनाये सफल

तकनीकी कोर्स होने के कारण छात्रों को अपने अंदर कई तरह के तकनीकी गुणों का विकसित करना आवश्यक है } इसके साथ ही कम्युनिकेशन स्किल्स ,TeamWork , कंप्यूटर हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेर की जानकारी ,Technical Writing जैसे गुण समय-समय पर प्रोफेशनल की मदद करते है | यह काम परिश्रम मांगता है और चुनौतियाँ से भरा है इसलिए पेशेवरो को मेहनत से पीछे नही हटना चाहिए | कई बार किसी काम को करने में अधिक समय लगता है इसलिए धैर्य का गुण अख्तियार करना आवश्यक है |

रोजगार सम्भावनाये

Telecom Industry ने साल दर साल साल विकास के करने के कारण इसमें रोजगार की सम्भावनाये भी तेजी से पैर पसार रही है | सफलतापूर्वक कोर्स करने के बाद पेशेवरो को Telecom Industry ,Mobile फ़ोन सर्विस प्रोवाइडर ,सॉफ्टवेर डेवलपमेंट सेक्टर , रेलवे आदि में बतौर सॉफ्टवेर इंजिनियर ,टेस्ट इंजिनियर कस्टमर सपोर्ट स्टाफ ,प्रोडक्ट distributes , पॉवर रिएक्टर ऑपरेटर ,डिजाईन डेवलपर के रूप में रोजगार मिलता है |

डिग्री से मदद

Telecom Industry से जुड़े कोर्स के दौरान  छात्रों को बारीकियो से अवगत कराया जाता है और कई जटिल उपकरणों से रुबुरु करवाया जाता है | कोर्स समाप्त करने के बाद पेशेवर जब फील्ड में जाते है तो वहा प्रैक्टिकल नॉलेज काफी काम आती है | टेलीकॉम इंडस्ट्री में मार्केटिंग , प्रोडक्ट ,नेटवर्क से संबधित पेशेवरो के लिए काफी मौके है | आज देश में मनी ट्रान्सफर ,फोन बैंकिंग ,SMS जैसी हर तरह की सेवा मोबाइल पर उपलब्ध होती जा रही है इसलिए इसमें सम्भावनाओं की कोई कमी नही है | आज तकरीबन 80 प्रतिशत लोगो के हाथो में मोबाइल है | ये सब टेलिकॉम उद्योग के विस्तार की बदौलत सम्भव हो पाया है | 2G,3G के बाद अब 4G यह सब उद्योग के विकास के सूचक है |

बेहतर जीवन की गारंटी

इसमें पेशेवरो की सैलरी काफी कुछ संस्थान एवं योग्यता पर निर्भर करती है | शुरुवाती दौर में उन्हें लगभग 10-15 हजार रूपये प्रतिमाह मिलते है | दो तीन वर्ष के अनुभव के बाद यह सैलरी बढकर 25-30 हजार रूपये प्रतिमाह तक पहुच जाती है | कई पेशेवर है जिनका सालाना पैकज लाखो में है जबकि विदेशो में पेशेवरो को आकर्षक पैकेज मिलता है |

कोर्स का खर्च

टेलीकॉम से संबधित कोर्सेज़ की फीस सेमेस्टर के हिसाब से ली जाती है | प्राइवेट एवं सरकारी संस्थानों की फीस में बड़ा अंतर देखा जाता है | प्राइवेट संस्थानों की फीस सरकारी संस्थानों की तुलना में अधिक होती है | आमतौर पर यह फीस 15-17 हजार रूपये प्रति समेस्टर होती है | यह फीस हर साल अपडेट होती रहती है |

किन सेक्टरो में काम

  • डिफेन्स सेक्टर- इसमें आप टेलीकम्यूनिकेशन से जुडी कम्पनियों के अलावा डिफेन्स सेक्टर में भी कदम आगे बढ़ा सकते है | एयरफोर्स ,नेवी ,आर्मी ,स्टेट फ़ोर्स अदि में भी समय समय पर इसके जानकारों के लिए नौकरिया निकलती रहती है |
  • टेलिकॉम कंपनिया – एक एक उपभोक्ता के लिए मोबाइल कम्पनियों के बीच जारी प्रतिस्पर्था के चलते टेलिकॉम सेक्टर में योग्य व्यक्तियों को आकर्षक पैकेज उपलब्ध हो रहे है | टेलिकॉम से जुडा कोर्स करने के बाद मोबाइल कंपनियो में प्रोजेक्ट मेनेजर ,सिस्टम इंजिनियर आदि के रूप में करियर की शुरुवात कर सकते है |
  • शिक्षक के रूप में – टेलिकॉम इंडस्ट्री के प्रति बढ़ते रुझान को देखते हुए कई विश्वविद्यालय एवं संस्थान इसके कोर्स करा रहे है | अच्छे जानकार इन विश्वविद्यालय के साथ जुडकर शिक्ष्ण के क्षेत्र की ओर कदम बढ़ा सकते है | इन संस्थानों में वेतन भी काफी अच्छा होता है |
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *