Chandigarh Tour Guide in Hindi | चंडीगढ़ के प्रमुख पर्यटन स्थल

Chandigarh Tour Guide in Hindi
Chandigarh Tour Guide in Hindi

चंडीगढ़ (Chandigarh) उत्तर भारत का ही नही अपितु देश का अपनी तरह का एक आधुनिक नगर है | चंडीगढ़ (Chandigarh) पंजाब और हरियाणा दोनों की संयुक्त राजधानी के साथ साथ संघीय क्षेत्र भी है | चौड़ी सड़के ,हरे भरे पेड़ो की भरमार , प्रदूषण मुक्त वातावरण तथा स्वच्छता यहाँ की विशेषता है | शिवालिक के पहाडियों की तलहटी में तथा हिमाचल प्रदेश के प्रवेश द्वार पर स्थित इस नये तथा योजनाबद्ध तरीके से बसे नगर का निर्माण सुप्रसिद्ध वास्तुकार ला कारबुजिये ने किया था | यहाँ के भवन आधुनिक वास्तुशिल्प का एक सुंदर तथा जीवंत उदाहरण है जिन्हें देखने विश्व के कोने कोने से हजारो पर्यटक आते है |

अपनी अद्भुद सुन्दरता के लिए इस शहर को सिटी ब्यूटीफुल के नाम से भी जाना जाता है | 7.5 लाख की आबादी वाले तथा लगभग 114 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला यह शहर पंजाब और हरियाणा राज्य की सीमाओं से जुड़ा है | लगभग 25 किमी पर हिमाचल प्रदेश प्रारम्भ हो जाता है | चंडीगढ़ (Chandigarh) के इक विशेषता यह भी है कि यहाँ बहुत कम समय में तथा बहुत कम दूरी पर स्थित अनेक विश्वस्तरीय दर्शनीय स्थलों को देखा जा सकता है | शिक्षण संस्थानों के लिए भी यह शहर जाना जाता है | यहाँ पर देश का महत्वपूर्ण पंजाब विश्वविद्यालय , पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज , गर्वनमेंट कॉलेज ऑफ़ आर्किटेक्चर , गर्वमेंट मेडिकल कॉलेज तथा अस्पताल के साथ साथ विश्व विख्यात पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च भी है | दरअसल चंडीगढ़ भारत की तस्वीर है |

चंडीगढ़ (Chandigarh) क्र प्रमुख दर्शनीय स्थल

कैपिटल काम्प्लेक्स – वैसे तो ला कारबुजिये के नाम से ही चंडीगढ़ शहर देखने योग्य है परन्तु सेक्टर 1 स्थित सचिवालय पंजाब तथा हरियाणा राज्यों की विधानसभा ,उच्च न्यायालय , खुले हाथ का निशान आदि वास्तुकला का उत्कृष्ट उदाहरण है |

रॉक गार्डन – चंडीगढ़ का विश्व विख्यात रॉक गार्डन अपने आप में कला की एक अद्वितीय कृति है | पद्मश्री नेकचंद द्वारा रचित इस रॉक गर्दन में बेकार तथा टूटी-फूटी वस्तुओ से अनूठी कृतियों का निर्माण किया है जो कि कल्पना लोक से कम नही है | प्रत्येक चंडीगढ़ आने वाले के लिए रॉक गार्डन आवश्यक पर्यटक स्थल बन चूका है |

सुखना झील – शिवालिक की तलहटी में अप्राकृतिक रूप से बनाई गयी यह झील सुन्दरता का एक खूबसूरत नजारा प्रस्तुत करती है | वाटर स्पोर्ट्स , नौका विहार तथा दुसरी जल क्रीडाओ के लिए यह उत्तम स्थल है |

लेयर वेली – शारीरिक फिटनेस के लिए प्राकृतिक वातावरण में घुमने के लिए लेयर वेली खुबसुरत स्थान है |

बोगेनबेलिया पार्क – सुनहरे ,नीले ,सफेद रंगो के बोगेनबलिया फूलो का लगभग 20 एकड़ भूखंड में फैला एक अनूठा बाग़ है |

रोज गार्डन -लगभग 30 एकड़ भूभाग में बनाया गया तथा 1600 से भी अधिक किस्मो के गुलाब के फूलो वाला यह एशिया का सबसे बड़ा गुलाबो का बाग़ है | बाग़ के बीचो-बीच लगभग 70 फुट का फव्वारा इसकी शोभा ओर बढ़ा देता है | बसंत के मौसम में रंग-बिरंगे गुलाबो के साथ रोज गार्डन की तरफ हर कोई आकर्षित होता है |

टेरेस गार्डन – 10 एकड़ क्षेत्र में फैले इस गार्डन में रंग-बिरंगे मौसमी फूलो की भरमार है | वनस्पति शास्त्र के छात्रो के लिए यह एक अनमोल खजाने से कम नही है | टोपिहारी पार्क – जीव जन्तुओ के आकार के अलग अलग पौधे तथा झाड़ियो से निर्मित कृतिया बच्चो के प्रमुख आकर्षण का केंद्र है |

म्यूजियम काम्प्लेक्स – प्राचीन मूर्तियों के साथ साथ ला कारबुजिये द्वारा डिजाईन किया गया भवन ही अपने आप में दर्शनीय है | यह सोमवार को बंद रहता है |

राजकीय संग्रहालय तथ आर्ट गैलरी – इस संग्रहालय में चित्रकला स्कल्पचर का अनूठा संग्रह है जिनमे एतेहासिक तथा समयकालीन दोनों तरह की मूर्ति क्लाए है | यह सोमवार को बंद रहता है |

सिटी म्यूजियम – यहा पर चंडीगढ़गढ़ के विकास-विस्तार से संबधित ,रेखाचित्र , पेंटिंग्स , फोटोग्राफस आदि की आर्चीतेक्ट प्रदर्शनी क्ग्ती हिया | यह भी सोमवार को बंद रहता है |

कला सागर – टूटी-फूटी पाइपो , नलों , पानी की टंकियो ,बाल्व तथा अन्य बेकार सेनेटरी सामन से निर्मित अद्भुत कलाकृतियों का अनूठा संग्रह कला सागर है | देश विदेश से सैकड़ो पर्यटक प्रतिदिन यहाँ आते है | इसका निर्माण विजयपाल गोयल द्वारा किया गया है | इन सबके अतिरिक्त पंजाब विश्वविद्यालय परिसर के खुले हरे भरे लॉन , खुबसुरत भवन , बोटेनिकल गार्डन भी दर्शनीय स्थल है |

कैसे जाए

रेलमार्ग द्वारा चंडीगढ़ के लिए दिल्ली से हावड़ा , दिल्ली कालका मेल सुविधाजनक गाड़िया है | चंडीगढ़ का रेलवे स्टेशन ,सिटी सेंटर सेंटर 17 से केवल 8 किमी दूर है | सड़क मार्ग चंदीगगढ़ देश के विभिन्न भागो के साथ कई सड़क मार्गो से जुड़ा है | कई राज्य परिवहन की बसे आस-पास के राज्यों से चंडीगढ़ आती है | राष्ट्रीय हाइवे 21 एवं 22 चंडीगढ़ के लिए प्रमुख मार्ग है | चंडीगढ़ ,पंजाब , हिमाचल , दिल्ली , उत्तर प्रदेश तथ राजस्थान के पर्यटन तथ धार्मिक स्थलों से सड़क मार्ग से जुड़ा है |

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *