विश्व के कुछ अनोखे त्यौहार | Bizarre Festivals in The World

Loading...

Bizarre Festivals in The World

हर त्यौहार आपके लिए ढेर सारी खुशिया लेकर आता है | जैसे हमारे देश में कुछ त्योहारों का बेसब्री से इन्तजार होता है वैसे ही दुनिया के अलग अलग देशो में भी प्रमुख त्योहारों का बेसब्री से इंतजार किया जाता है | वहा भी लोग इस मौके पर आपस में खुशिया बांटते है आइये आज आपको बताते है दुनिया के सात अनोखे त्योहारों Bizarre Festivals की रोचक जानकारी |

01 हिनामत्सुरी

यह त्यौहार तीन मार्च को हर जापानी परिवार द्वारा हर्ष और उल्लास से मनाया जाता है इससे गुडियों को पारम्परिक रंग बिरंगे किमोनो पोशाक में सजाया जाता है और पानी में बहा दिया जाता है | ऐसा माना जाता है कि इससे सुख  ,समृधि और बेहतर स्वास्थ्य प्राप्त होता है और बुरी किस्मत गुडियों के पीछे पानी में बह जाती है | यह मौसम के परिवर्तन का भी होता है |ठंड बीत जाने एवं वसंत आगमन की खुशी में लोग मिलकर इस त्यौहार को मनाते है |

02 ला टोमाटीना फेस्टिवल

tomatina-festival-spainयह त्यौहार स्पेन के बनल प्रांत में मनाया जाता है | इसमें लोग एक दुसरे पर टमाटर फेंकते है इसकी शुरुवात की कहानी मजेदार है | 29 अगस्त 1945 को परेड देखने गया व्यक्ति भीड़ में गिर गया इससे गुस्साई भीड़ ने वहा मौजूद टमाटर एवं अन्य सब्जिया एक दुसरे पर फेंकना शूरू कर दिया |यह इतना रोमांचक रहा कि उसके बाद से एक दुसरे पर टमाटर फेंकने का प्रचलन चल पड़ा |इस पर प्रतिबन्ध भी लगा पर अब इसे हर साल मनाया जाने लगा है |

03 Grape Throwing Festival

इस उत्सव को स्पेन के बिनिसेलम नामक गाँव में मनाया जाता है | लोग गाँव से कुछ दूरी पर स्थित खेत में इकट्ठा होते है | आयोजक द्वारा राकेट उड़ाते ही वे लोग एक दुसरे पर अंगूर फेंकते है | यह दो सप्ताह तक चलता है जिससे खराब अंगूरों को एक दुसरे पे फेंक कर नष्ट किया जाता है | इस खेल के अंत में अतिथियों को बढिया वाइन भी पिलाई जाती है जो मशहूर अंगूरों से बनता है |

04 बंदरो का फेस्टिवल

यह उत्सव थाईलैंड के लोपबुरी प्रांत में मनाया जाता है | कमेर राज्यकाल में बने मन्दिर में यह त्यौहार मनाया जाता है | इस उत्सव में वहा तीन हजार से भी ज्यादा बंदरो को खाना खिलाया जाता है |  करीब चार हजार किलो फल ,केक ,सब्जी इत्यादि मन्दिर के निकट एक टेबल पर बंदरो के खाने के लिए रखा जाता है | यह त्यौहार 1989 में स्थानीय व्यापारी द्वारा लोपबुरी टूरिज्म बढाने के मकसद से शूर किया गया था | अब यहाँ सभी मिलकर इसे मनाते है |

05 हेलोवीन

यह त्यौहार 31 अक्टूबर की रात को मनाया जाता है | पहले यह मुख्यत: प्राचीन सेल्ट समुदाय द्वारा मनाया जाता था |अभी इनके वंशज ब्रिटेन ,स्कॉट आइरिस आदि इस त्यौहार को पूर्वजो की आत्मा की शान्ति के लिए मनाते है | आजकल यह त्यौहार भारत के गोवा , मुम्बई और बेंगलुरु जैसे कुच्स शहरों में भी मनाया जाने लगा है | दरअसल सेल्ट जनजाति के लोग प्रकृति की पूजा करने वाले थे | 300 से ज्यादा देवी देवताओं में से सूर्य उनके प्रमुख देवता थे जिनके सम्मान में ये लोग गर्मी के मौसम के आरम्भ में बेलटेन और ठंड की शुरुवात पर समहेन नाम के दो विशेष पर्व मनाते है | वर्तमान में छोटे बच्चे डरावनी वेशभूषा पहनकर हर घर के द्वार पर जाते है और लोग अपनी भलाई की कामना करते हुए उन्हें खाने के लिए कैंडी ,सेब अदि देते है | इस उत्सव में बच्चे बहुत मजा करते है |

06 बर्फ का उत्सव

यह चीन का महत्वपूर्ण उत्सव है |इस उत्सव में शोगवा नदी के बर्फ से कलाकृतिया बनाई जाती है | ये कलाकृतिया चीन की परीकथा ,यूरोप की लोकप्रिय गाथाये एवं विश्व के नामचीन भवनों के अनोखे संगम को दर्शाते है | इस दौरान बर्फ के बाग़ ,फुल ,चर्च ,झरने आदि का निर्माण होता है | सबसे पहले इस उत्सव में बर्फ का लालटेन बनाने की प्रक्रिया ली किविंग के दौर में शुरू हुयी थी |उस दौरान वहा के मछुआरे और किसान उनका इस्तेमाल कडकडाती ठंड में करते थे | अब उन्नत तकनीक से इसे गौरवशाली एवं भव्य बनाया जाता है | इसमें शामिल होने के लिए कई देशो से लोग आते है |

07 द कूपर हिल चीज रोलिंग

यह उत्सव इंग्लैंड में गोलचेस्तर के पास मई के आखिरी सोमवार को मनाया जाता है | यह जोखिम भरा खेल अहि जिसमे पनीर से बने चक्कों को कूपर नामक पहाडी से धकेला जाता है और प्रतियोगी उन्हें पकड़ने के लिए दौड़ते है इसमें उपयोग होने वाला पनीर सात से नौ पौंड (चार पांच किग्रा) तक भारी होता है जिसे पारम्परिक रूप से चक्के का आकार दिया जाता है इसे लकड़ी के फ्रेम का सहारा दिया जाता है | आयोजित होने वाली चार रेसो में से तीन पुरुषो के लिए और एक महिलाओं के लिए होती है | मानना है कि इसे रोमन लोगो ने आरम्भ किया था |

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *