Home यात्रा त्रिपुरा राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य | Tripura Facts in Hindi

त्रिपुरा राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य | Tripura Facts in Hindi

313
0
SHARE
त्रिपुरा राज्य से जुड़े रोचक तथ्य | Tripura Facts in Hindi
त्रिपुरा राज्य से जुड़े रोचक तथ्य | Tripura Facts in Hindi

त्रिपुरा (Tripura) भारत का नार्थईस्ट प्रदेश है जो भारत का तीसरा सबसे छोटा राज्य है | त्रिपुरा बांग्लादेश एवं बर्मा की नदी के घाटियों के बीच स्थित है |इसके तीनो तरफ बांग्लादेश एवं उत्तर-पूर्व में यह असम एवं मिजोरम से जुड़ा हुआ है | त्रिपुरा पर कई शताब्दियों पहले त्रिपुरी वंश का राज था इसलिए इसे त्रिपुरा (Tripura) कहते है | आइये आपको त्रिपुरा (Tripura) से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में विस्तार से बताते है |

त्रिपुरा एक नजर में | Tripura Facts in Hindi

देश भारत
गठन 21 जनवरी 1972
राजधानी अगरतला
सर्वाधिक जनसख्या वाला शहर अगरतला
कुल जिले आठ
कुल क्षेत्रफल 10,491.69 वर्ग किमी
क्षेत्रफल के लिहाज से स्थान 27th (2014)
कुल जनसंख्या 3,671,032
जनसख्या के लिहाज से स्थान 22nd (2014)
जनसंख्या घनत्व 350 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी
साक्षरता दर 87.75 प्रतिशत (2011)
मुख्य भाषाए बंगाली ,अंग्रेजी , कोकबोरोक
राज्य पशु फ़रीज पर्णवानर
राज्य पक्षी हरा शाही कबूतर
राज्य वृक्ष अगर
राज्य पुष्प नागेसर
राज्य दिवस 21 जनवरी
उच्च न्यायालय गुवाहाटी
स्कूल 4455
महाविद्यालय 15
विश्वविद्यालय 3
सरकार
गर्वनर कप्तान सिंह सोलंकी
मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब (भाजपा)
उपमुख्यमंत्री जिष्णु देब बर्मन (भाजपा)
विधानसभा एकसदनीय(60 seats)
संसदीय प्रतिनिधित्व 2 (लोकसभा), 1 (राज्यसभा)

त्रिपुरा का इतिहास

त्रिपुरा (Tripura) का पुराना इतिहास है | प्रदेश की अपनी अनोखी संस्कृति है | राज्य के इतिहास को त्रिपुरा नरेश के बारे में “राजमाला” गाथाओं एवं मुसलमान इतिहासकारों के वर्णनों में जाना जा सकता है | महाभारत एवं पुराणों में भी त्रिपुरा का उल्लेख मिलता है | त्रिपुरा नरेश की मदद 14वी शताब्दी में बंगाल के शासको द्वारा किये जाने का उल्लेख है |

त्रिपुरा (Tripura) के शासको को मुगलों एवं बंगाल के शासको के आक्रमणों का सामना करना पड़ा | 19वी शताब्दी में महाराजा वीरचन्द्र किशोर माणिक्य बहादुर के शासनकाल ने त्रिपुरा के नये युग का सूत्रपात हुआ | इनके उत्तराधिकारीयो ने 15 अक्टूबर 1949 तक त्रिपुरा पर राज किया | देश की स्वतंत्रता के बाद 1949 में त्रिपुरा को एक राज्य बनाया गया | राज्य पुनर्गठन अधिनियम के तहत इसे संघशासित क्षेत्र घोषित किया गया | अंत में 21 जनवरी 1972 को इसे राज्य का दर्जा प्रदान किया गया |

त्रिपुरा की भौगोलिक स्थिति

मुख्य पर्वतमालाए बारामुरा , अथरामपूरा , देवतामुरा , लोंगथराई , जम्पाई एवं साखन
सबसे ऊँचा शिखर वेटिलिंग (960 मीटर)
मुख्य नदियाँ जूरी ,धलाई ,मान , गोमती , खोवाई , मधरी , लोंगाई एवं हावड़ा
जलवायु उष्णकटिबंधीय जलवायु

त्रिपुरा की आर्थिक स्थिति

जीविका का आधार कृषि
कृषि का तरीका झूम कृषि
मुख्य फसले गेहू , पटसन , गन्ना ,तिलहन ,आलू
प्रमुख उद्योग चाय
अन्य उद्योग हथकरगा , रेशम  , फलो की पैकिंग , साबुन निर्माण

त्रिपुरा में परिवहन

सडको की कुल लम्बाई 16931 किमी
राष्ट्रीय राजमार्ग NH-8
रेलवे लाइन की कुल लम्बाई 153 किमी
मुख्य रेलवे स्टेशन अगरतला ,धर्मनगर और कुमारघाट
मुख्य हवाई अड्डा अगरतला हवाई अड्डा

त्रिपुरा की संस्कृति

मुख्य जातीय समूह बंगाली (70 प्रतिशत)
प्रमुख भाषाए बंगाली (67.14%), त्रिपुरी (25.46%)
प्रमुख धर्म हिन्दू (83.40 प्रतिशत ) ,इस्लाम (8.60 प्रतिशत) , इसाई (4.35 प्रतिशत) , बौद्ध (3.41 प्रतिशत)
प्रमुख जनजातियाँ देबबरमा , त्रिपुरा , जमातिया , रेंग , नोअतिया , कोलोई , मुरसिंग , चकमा , हलम , गारो , उचोई , धमाई , रोअज़ा , मोघ
मुख्य त्यौहार दुर्गापूजा ,काली पूजा , डोलयात्रा, अशोकाष्टमी
मुख्य उत्सव गोरिया , धामेल ,बिज्जू और होजगिरी उत्सव , केर और खांची उत्सव
मुख्य नृत्य गोरिया , झूम नृत्य , लेबांग ,ममिता , मोसक, होजागिरी , बिज्हू नृत्य ,वांगला नृत्य ,हक़-हक़ नृत्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here