इंडियन करेंसी से जुड़े रोचक तथ्य | Interesting Facts of Indian Curreny in Hindi

500 और 1000 का नोट बंद होने से भारत में हडकम्प मच गया है जहा एक तरह जहा इसे काले धन के खिलाफ मास्टर स्ट्रोक की संज्ञा दी जा रही है वही दुसरी तरफ इसे जल्दबाजी में उठाया कदम बताया जा रहा है | इस मुल्क के आम आदमी को आज इतनी समझ है कि काला धन सिर्फ विदेशो में ही नही जमा करवाया जाता बल्कि इसे लोग बड़े नोट की शक्ल में घर में भी रखते है | क्र सुधारों के लिए बनाई गयी राजा चलैया समिति के अनुसार किसी अर्थव्यवस्था में काला धन वह रकम है जिसका लेन-देन परिवारों और कारोबारियों द्वारा जान बुझकर खाता बहियों से दूर रखा जाता है जिससे सरका को इस लेन-देन की जानकारी नही मिल पाती है इससे राजस्व को भारी नुकसान होता है | इस काले धन को देश के भीतर राष्ट्रद्रोह की गतिविधियों के लिए भी उपयोग किया जाता है |

loading...

इसकी पड़ताल करने से विदित होता है कि काले धन की उत्पति कई प्रकार से होती है जिनमे मुख्य रूप से अपराधिक स्त्रोतों जैसे Drugs ,घोटाले ,आतंकवाद ,फिरौतियो की रकम और तस्करी आदि धन शामिल रहता है | कुछेक अंदाजो के मुताबिक़ विदेशो में भेजे गये धन का 13 से 15 प्रतिशत काला धन अपराधिक जगत के माध्यम से पैदा होता है | इसके अतिरिक्त उन सफेदपोश अपराधियों द्वारा 60-65 प्रतिशत धन पैदा किया जाता है जो सत्ता में रहते हुए अपने पदों का दुरूपयोग करते है और काले धन की उत्पति में अपना सम्पूर्ण योगदान करते है |

एक अन्य प्रकार के काले धन को कुछ व्यावसायिक लोगो अथवा उनकी कम्पनियों द्वारा कर की चोरी करके एकत्र किया जाता है | यह धन विशुद्ध रूप से नकदी होने के कारण बेनामी जमीने , प्रॉपर्टी खरीदने में प्रयोग होता है | इस धन का कुछ भाग देश के बाहर हवाला के माध्यम से भी भेजा जाता है क्योंकि कुल काले धन का 80 प्रतिशत से अधिक का हिस्सा अपराधिक और अवैध स्त्रोतों से आता है इसलिए यह देश के लिए सर्वाधिक घातक और हमारी आन्तरिक सुरक्षा के लिए खतरा है | क्योंकि यह धन बड़े नोटों की शक्ल में गुप्त था इस कारण मोदी सरकर का पुराने बड़े नोट बंद करने का तर्क विकृत नही लगता है |

शेरशाह सुरी ने चलाया था रुपया शब्द

शेरशाह सुरी ने सबसे पहले अपने शासनकाल में रूपया शब्द का प्रचलन शूरू किया था | उस समय चाँदी के सिक्के का रुपया होता है जिसका वजन 11.53 ग्राम होता था | इसके बाद अंग्रेजो के राज में रूपये का भार 11.66 ग्राम हो गया | भारत में रूपये को पहले नया पैसा कहकर पुकारा जाता था | भारत में RBI द्वारा यह मुद्रा जारी होती है |

18वी शताब्दी में छपने शुरू हुए थे करेंसी नोट

भारत में Paper Currency छापने की शुरुवात 18वी Century में हुयी थी | सबसे पहले Bank of Bengal,Bank of Bombay और Bank of Madras जैसे  बैंको ने Paper Currency Act 1861 के बाद Indian Currency छापने का पूरा अधिकार Indian Gorverment को दे दिया गे | 1935 में Reserve Bank of India की स्थापना भारत सरकार Indian Currency छापती रही लेकिन इसके बाद RBI में यह जिम्मेदारी अपने हाथ में ले ली |

1954 में छपे थे 5000 और 10000 के नोट

Paper Currency छपने की शुरुवात RBI द्वारा 1938 में हुयी थी | 1938 में पहली बार Reserve Bank ने Paper Currency छापी | यह पांच रूपये का नोट था इसी वर्ष 10 रूपये ,100 रूपये और 1000 रूपये के नोट छापे गये | सन 1946 में हजार रूपये  और दस हजार रूपये के नोट बंद कर दिए गये | 1954 में फिर से हजार और दस हजार रूपये के नोट छापे गये | साथ ही 5000 रूपये के नोट की छापे गये |1954 में पहली बार एक हजार रूपये का नोट जारी हुआ था |1978 में एक हजार , पांच हजार औरदस हजार का नोट पुरी तरह बंद कर दिया गया |1987 में पहली बार 500 रूपये का जारी हुआ | सन 2000 में दुसरी बार 1000 रूपये का नोट जारी किया गया  | संन 2005 में सुरक्षा की दृष्टी से 500 रूपये के नोट में बदलाव किये गये |

वित्त विभाग जारी करता है 1 रूपये का नोट

जैसा कि आप जानते है कि सारे नोट RBI द्वारा जारी किये जाते है और उन पर RBI के गर्वनर के हस्ताक्षर होते है लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि केवल 1 रूपये का नोट ही एकमात्र ऐसा नोट है जिसे भारत के वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किया जाता है | 1 रूपये के नोट पर RBI के गर्वनर की जगह वित्त सचिव के हस्ताक्षर होते है |

हर नोट के पीछे होती है अलग तस्वीर

interesting-facts-of-indian-curreny-in-hindiहर नोट के पीछे अलग अलग चित्र होते है जिसमे इंसानों , जानवरों से लेकर स्वतंत्रता आन्दोलन से जुड़े लोगो के चित्र होते है | 10 रूपये के नोट के पीछे शेर ,हाथी और गेंडे का चित्र होता है | 20 रूपये के नोट पर अंडमान द्वीप की तस्वीर छपी हुयी है | 50 रूपये के नोट पर भारतीय संसद का चित्र है तो 100 रूपये के नोट पहाड़ और बादल की तस्वीर छपी हुयी है | 500 रूपये के नोट पर अब तक गांधीजी की डांडी यात्रा का चित्र हुआ करता है लेकिन हाल ही में जारी हुए नये 500 के नोट में लाल किले का चित्र है | 1000 रूपये के नोट में अब तक सॅटॅलाइट का चित्र हुआ करता है जो अब बंद हो चूका है | 2000 के जारी हुए नये नोट पर अब मंगलयान का चित्र बना हुआ है |

नेपाल में 500 और 1000 रूपये के नोट पर बैन

नकली नोटों की बढती घटनाओ के मद्देनजर रखते हुए नेपाल में 500 रूपये और 1000 रूपये के नोट पर पाबंदी लगा रखी  है | इतना ही नही अगर इन नोट के साथ नेपाल में कोई पकड़ा जाता है तो उसे दंड भी दिया जाता है | इस बात को पुख्ता करने के लिए भारत-नेपाल की सीमा पर एक सुचना पट्ट भी लगाया है जिसमे साफ़ तौर पर बताया गया है कि नेपाल में 500 और 1000 के नोट पर पाबंदी है |

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *