Home यात्रा Facts About Punjab in Hindi | पंजाब से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

Facts About Punjab in Hindi | पंजाब से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

842
4
Loading...

Facts About Punjab in Hindi | पंजाब से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

पंजाब (Punjab) शब्द फारसी के दो शब्दों “पंज” और “आब” के संयोग से बना है | पंज का अर्थ है पाँच और आब का अर्थ पानी | इसका अर्थ होता है | पांच नदियों का प्रदेश | 1 नवम्बर 1966 को पंजाब अस्तित्व में आया | इसका हिंदी भाषी क्षेत्र हरियाणा और पर्वतीय क्षेत्र हिमाचल प्रदेश में शामिल कर लिया गया | सिखों का सर्वाधिक पवित्र स्थल स्वर्ण मन्दिर अमृतसर में स्थित है | अब आइये आपको पंजाब से महत्वपूर्ण तथ्यों से रुबुरु करवाते है |

पंजाब एक नजर में | Quick Facts of Punjab in Hindi

Punjab in Hindi | पंजाब से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य | Punjab Facts in Hindi

  • क्षेत्रफल – 50362 वर्ग किमी | क्षेत्रफल के लिहाज से भारत में स्थान – 20वा
  • जनसंख्या – 27,704,236 (2011 जनगणना) | जनसंख्या घनत्व – 550 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी
  • जनसंख्या में लिहाज से भारत में स्थान– 16वा (2011 जनगणना)
  • लिंगानुपात – 893/1000 पुरुष पर | साक्षरता दर – 76.6 % |
  • राजधानी – चंडीगढ़ | कुल जिले – 22 | सबसे बड़ा शहर – लुधियाना | सबसे छोटा शहर – फतेहगढ़ साहिब
  • मुख्यमंत्री – प्रकाश सिंह बादल | राज्यपाल – वी.पी.सिंह बदनोर
  • विधानसभा सीटो की संख्या – 117 | लोकसभा सीटो की संख्या – 13 | राज्यसभा सीटो की संख्या – 07
  • पंजाब के प्रथम मुख्यमंत्री – गोपी चन्द्र भार्गव  | पंजाब के प्रथम राजपाल – चंदूलाल माधवलाल त्रिवेदी
  • राज्य पशु – काला हिरण | राज्य पक्षी – बाज | राज्य नदी -सिन्धु  | राज्य वृक्ष – शीशम
  • राज्य दिवस – 01 नवम्बर | राज्य भाषा – पंजाबी

पंजाब का इतिहास | History of Punjab in Hindi

  • ईसा से 800-400 वर्ष पूर्व पंजाब को त्रिगर्त कहते थे जिस पर कटोच राजा राज करते थे |
  • सिन्धु घाटी सभ्यता (Indus Valley Civilization ) में भी पंजाब इलाके के शहर रूपर का जिक्र होता है |
  • पंजाब किसी समय में भारत-इरानी क्षेत्र का हिस्सा रहा है |
  • प्राचीन साम्राज्यों में यूनानी ,मौर्य ,कुषाण,शक ,गुप्त सहित अनेक वंशो  का शासन रहा |
  • मध्यकाल (Medieval Days) में यह प्रदेश मुस्लिम शासको के आधिपत्य में रहा |
  • यहा गजनवी ,खिलजी,गौरी ,तुगलक ,लोदी और मुगल वंशो का अधिकार रहा |
  • पंजाब में 15वी और 16वी शताब्दी में सिख धर्म (Sikh Religion) का उदय और विकास हुआ |
  • पंजाब में गुरुनानक देव जी ने सिख धर्म की स्थापना की | उनके बाद यहा नौ गुरु हुए |
  • गुरु अंगद ने गुरुमुखी लिपि की रचना की | गुरु रामदास ने अमृतसर शहर बसाया |
  • गुरु अर्जुन देव ने आदि ग्रन्थ का संकलन कराया | गुरु गोविन्द सिंह ने सिखों को सैनिक शिक्षा दी |
  • अंग्रेजो और सिखों के बीच दो युद्धों के बाद 1849 में पंजाब प्रांत ब्रिटिश शासन के आधीन हो गया |
  • भारत के बंटवारे के समय पंजाब राज्य दो भागो में बंट गया पूर्वी पंजाब भारत के हिस्से में आया |
  • पटियाला और पेप्सू दोनों को सम्मलित करके पंजाब राज्य  का गठन किया गया |
  • 1 नबम्बर 1966 को पंजाब को तीन इकाइयों में बाँट दिया गया |
  • पंजाब जिसमे पंजाबी भाषी इलाके शामिल थे | हरियाणा जिसमे हिंदी भाषी जिले और खरड तहसील शामिल थी |
  • चंडीगढ़ को इसकी राजधानी बनाया गया | वही पहाडी इलाको को हिमाचल प्रदेश में मिला दिया गया |

पंजाब की भौगौलिक स्थिति | Geographical Facts about Punjab in Hindi

  • पंजाब देश के उत्तरी पश्चिमी भाग में स्थित है जिसका क्षेत्रफल 50.362 वर्ग किमी है |
  • राज्य के पश्चिम में पाकिस्तान ,उत्तर में जम्मू कश्मीर ,उत्तर-पूर्व में हिमाचल प्रदेश और दक्षिण में हरियाणा और राजस्थान है |
  • भौतिक दृष्टि से राज्य को दो भागो में विभाजित किया जा सकता है
  • पहला शिवालिक की तराई पट्टी और दूसरा सतलज-घघर का मैदान,शिवालिक ,धौलाधार ,पीरपंजाल पर्वत है |
  • पंजाब में सिन्धु ,रावी, व्यास और सतलज नदिया बहती है |

पंजाब की आर्थिक स्थिति | Economic Facts about Punjab in Hindi

  • कृषि पंजाब की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार है | पंजाब की GDP 3.17 लाख करोड़ है |
  • भौगौलिक क्षेत्र के 86 प्रतिशत भागो पर खेती की जाती है |
  • चावल और गेहू यहा की मुख्य फसल है | इसके अलावा मक्का ,चना, दाले ,गन्ना , तिलहन, आलू, मशरूम, शहद, मिर्च एवं कपास का उत्पादन भी किया जाता है |
  • राज्य में ऑटो पार्ट्स ,होजरी के वस्त्र ,साईकिल ,सर्जरी के सामान , खेल के सामान , वनस्पति तेल ,ट्रेक्टर , रसायन ,औषधिया , मशीनी समान ,इलेक्ट्रॉनिक सामान का निर्माण किया जाता है |

परिवहन | Transport Of Punjab in Hindi

  • राज्य में सडको की कुल लम्बाई किमी है जिसमे से राष्ट्रीय राजमार्ग किमी है |
  • पंजाब से होकर गुजरने वाले रेलमार्गों की कुल लम्बाई किमी है |
  • पटियाला ,अमृतसर ,जालन्धर ,अम्बाला ,भटिंडा मुख्य रेलवे स्टेशन है |
  • यहा कुल चार नागरिक विमान क्लब अमृतसर , लुधियाना ,पटियाला और जालन्धर में है |
  • अमृतसर में एक अंतर्राष्ट्रीय हवाइ अड्डा है और चंडीगढ़ में घरेलू हवाई अड्डा है |

पंजाब की संस्कृति | Social and Cultural Facts about Punjab in Hindi

  • वैशाखी ,लोहड़ी ,होली ,दशहरा और दिवाली मुख्य त्योहार है |
  • मुक्तसर में माघी मेला , किला रायपुर में ग्रामीण खेल ,पटियाला में बसंत ,आनन्द पुर साहिब में होला मोहल्ला , तलवंडी साबू में बैसाखी ,सरहिंद में रोजा शरीफ पर उर्स ,छप्पर मेला ,फरीदकोट में शेख फरीद आगम पर्व ,गावं रामतीर्थ में राम तीरथ , सरहिंद में शहीदी जोर मेला ,हरबल्लभ संगीत और सम्मेलन ,जालन्धर में बाबा सोदाल आदि यहाँ के प्रमुख मेले है |
  • इसके अलावा अमृतसर ,पटियाला और कपूरथला में होने वाले तीन सांस्कृतिक महोत्सव भी हर वर्ष मनाये जाते है | यहा के त्यौहार और मेले पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है |
  • पंजाब का भांगड़ा नृत्य ना केवल भारत बल्कि पुरे विश्व में प्रसिद्ध है |
  • पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री भी भारत में सबसे तेज गति से बढने वाली फिल्म इंडस्ट्री है |

पंजाब के पर्यटन स्थल | Tourist Places of Punjab in Hindi

  • स्वर्ण मन्दिर -सोने और संगमरमर से जगमगाता स्वर्ण मन्दिर यहा की शोभा है | मन्दिर में कलशो एवं दीवारों पर सोना चढ़ा है मन्दिर परिसर में सेंट्रल सिख म्यूजियम है जहा अनेक कलाकृतिय एवं पेंटिंग्स सुरक्षित है |
  • अकालतख्त-यह सिख गुरुओ के आसन के तौर पर इस्तेमाल होता था | समुदाय के लिए यहा से फरमान यानि नीतिगत निर्णय जरी होते थे जिनकी समुदाय में काफी मान्यता थी |
  • जलियांवाला बाग़– 13 अप्रैल 1919 को यहा ब्रिटिश जनरल डायर ने शांतिपूर्ण सभा कर रहे निहत्थे लोगो को गोलियों से भुन डाला था | इन्ही की याद में यह उद्यान बनाया गया |
  • दुर्गयाना मन्दिर – यह मन्दिर चारो ओर से सरोवर से घिरा है | इसके अलावा यहा बाबा अटल राय ,खालसा कॉलेज ,गुरूद्वारा शाहिदा आदि भवन देखने लायक है |
  • वाघा बॉर्डर– वाघा बोर्डर अमृतसर से तकरीबन 28 से 30 किमी की दूरी पर स्थित है | 1999 में अमन सेतु खुलने से पहले भारत-पाक के बीच आवाजाही के लिए यही एकमात्र सडक मार्ग था | अटारी स्टेशन रेल यातायात के लिए उपयोग किया जाता है | यहा न केवल नागरिको का आना जाना बल्कि दोनों देशो के बीच व्यावसायिक आयात निर्यात भी होता है | विभाजन के दौरान इसी रस्ते से अधिकाँश लोगो का विस्थापन हुआ था जिसके चलते इन स्थानों पर सर्वाधिक खून खराबा हुआ था | इस बोर्डर को एशिया की बर्लिन वाल भी कहा जाता है |
  • मोतीबाग़ पैलेस– पटियाला में स्थित यह बाग़ 19वी शताब्दी में बना हुआ है | इसे लाहौर के प्रसिद्ध शालीमार बाह की तर्ज पर बनाया गया है | यहा आर्ट गैलरी भी है |
  • शीशमहल – यह महाराजा नरेंद सिंह के शासनकाल में बनवाया था | यहा गार्डन ,फव्वारे आयर कृत्रिम झील पर्यटकों का मन मोह लेती है |
  • रॉक गार्डन – चंडीगढ़ में स्तिथ इस गार्डन की स्थापन 1957 में एक सरकारी अफसर नेकचंद ने की थी | इस गार्डन का निर्माण कबाड़ी की वस्तुओ जैसे टूटी चूडियो , तारो ,टूटे फूटे बर्तनों से की गयी है |
  • दोहारा किला – इसी किले ,में “रंग दे बसंती” फिल्म के कुछ दृश्यों की शूटिंग हुयी थी | फिल मी अपार सफलता के बाद इस किले का नाम RDB फोर्ट कर दिया गया | ये चंडीगढ़ से 2 घंटे के रास्ते पर लुधियाना के नजदीक है |

आप अगर पंजाब घुमने जाए तो ये करना ना भूले

  • पंजाब के ढाबो पर मक्के की रोटी और सरसों की साग जरुर खाए |
  • पंजाब के लोगो से थोडा पंजाबी टोन  जरुर सीखे जैसे “की गल है ” |
  • स्वर्ण मन्दिर के सरोवर में एक डुबकी जरुर लगाये , आपको एक अलग ही आध्यात्मिक अनुभूति होगी |
  • पंजाब के लम्बे चौडे खेतो की सैर करे और हो सके तो किसानो से दोस्त्ती कर ट्रेक्टर से खेतो की सैर करे |
  • जलियांवाला बाग़ से शहीदों को नमन करे जिन्होंने आजादी के लिए अपनी जान दे दी |
  • RDB फोर्ट से आप रंग दे बंसती फिल्म के क्षणों को ताजा कर सकते है |
  • किला रायपुर में होने वाले ग्रामीण खेलो के लिए अलग से समय निकाले  , जहा अनोखे खेल दिखेंगे |
  • रॉक गार्डन देखकर आप नेकचंद के जज्बे को सलाम कर सकते है जिन्होंने उस दौर में स्वच्छ भारत अभियान को नया रूप दिया था |
  • गार्डन ऑफ़ साइलेंस में कुछ मिनट बैठकर अपने मन को शांत कर सकते है |
  • सिखों का इतिहास जानने के लिए विरासत-ए-खालसा जरुर जाए |
  • फतेहपुर साहिब में लगने वाले शहीदी जोर मेला में आप बच्चो को तलवारबाजी करते देख सकते है |
  • सरसों के खेतो और पंजाब के पिंड में आप DDLJ के क्षणों को याद कर सकते है
  • पंजाब में मस्ती के साथ अपनी मनचाही जगह पर एक बार भांगड़ा जरुर करे आपके लिए यादगार रहेगा |
  • पंजाब में आकर लस्सी के बड़े बड़े गिलासों के साथ परांठे ना खाए तो गजब बात होगी |
Loading...

4 COMMENTS

    • धन्यवाद , जानकारी कभी अधूरी नही देनी चाहिए इसलिए मेरी कोशिश इन्टरनेट पर उपलब्ध जानकारियों को हिंदी में पेश करना है |

  1. Main jad duniya ton jaavan
    Mud fer dobara aavan
    Main jo vi joon handhawan
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Kyi soormeya sardaaran di
    Kyi soofi sant fakeeran di
    Eh aashiq lokan di
    Kyi raanjhe te kyi heeran di
    Main jad duniya ton jaavan
    Mud fer dobara aavan
    Main jo vi joon handhawan
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Beetiyan gallan Same purane
    Jo chole wale daane khane
    Bapu ne muthi bhar chab laine
    Iko jeeyan khurakan khaake
    Banjar zameena Te hal vaah ke
    Mitti vichon heere labh laine
    Sabh badal gayian oh raahwan
    Bhaven aj hor hawawan
    Sabh badal gayian oh raahwan
    Bhaven aj hor hawawan
    Par fir vi main eh chahwan
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Beeyan jadon piha ke liyauna
    Cycle de career naal hona
    Bori dandeyan wich pasa laini
    Jad bori da moonh khul jaana
    Duleya aata chuk ke paana
    Maa lad-di tan jhat mana laini
    Ethe gaalan wich duawan
    Na russan puttan naal maawan
    Ethe gaalan wich duawan
    Na russan puttan naal maawan
    Aise lyi main eh chaahwan
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Bhaven duniya ghum layi a Sohneya
    Bhaven duniya ghum layi a
    Chaddiye jahaan jadon
    Chaddiye jahaan jadon
    Mitti watna di chumm layie sohneya
    Mitti watna di chumm layie
    Bohdan di chaan peengan paawan
    Ral-mil jad muteyaran gaawan
    Mausam vi ranjha ban gaunda a
    Jad koi ishq kitab folda
    Jad hakkan lyi khoon khaulda
    Fateh watan da naa fir aunda a
    Sabh kisse ate kathavan
    Mere des diyan rachnawan
    Sabh kisse ate kathavan
    Mere des diyan rachnawan
    Fir kyun na main eh chaahwan
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab
    Mera des hove Punjab

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here