Facts About Nagaland in Hindi | नागालैंड से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

Loading...

Facts About Nagaland in Hindi

Facts About Nagaland in HindiNagaland नागालैंड में मूलतः नागा लोग निवास करते है | ये लोग जनजातीय है | आइये आज हम आपको भारत के पूर्वोत्तर राज्य Nagaland नागालैंड से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों से रुबुरु करवाते है |

नागालैंड एक नजर में | Quick Facts of Nagaland in Hindi

  • क्षेत्रफल – 16, 579 वर्ग किमी | क्षेत्रफल के लिहाज से भारत में स्थान – 25th
  • जनसंख्या – 19, 80,602 (2011 जनगणना) | जनसंख्या घनत्व – 119 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी
  • जनसंख्या में लिहाज से भारत में स्थान– 24वा (2011 जनगणना)
  • लिंगानुपात – 931/1000 पुरुष पर | साक्षरता दर – 80.11% |
  • राजधानी – कोहिमा | कुल जिले – 11
  • मुख्यमंत्री – टी.आर.जेलिआंग | राज्यपाल – पद्मनाभ आचार्य
  • विधानसभा सीटो की संख्या – 60 | लोकसभा सीटो की संख्या – 1 | राज्यसभा सीटो की संख्या – 1
  • प्रथम मुख्यमंत्री – पी.शीलू आ  | प्रथम राजपाल – विष्णु सहाय
  • राज्य पशु – मेथुन | राज्य पक्षी – ब्लीथ ट्रेपागन | राज्य फूल -रोडोडेंड्रन | राज्य वृक्ष – आल्डर
  • राज्य दिवस – 01 दिसम्बर | राज्य भाषा – अंग्रेजी

नागालैंड का इतिहास | History of Nagaland in Hindi

  • नागा लोगो का सम्पर्क 12वी और 13वी शताब्दी में अहोम लोगो से हुआ |
  • 19वी सदी में यह क्षेत्र ब्रिटिश शासन के आधिपत्य में आ गया |
  • 1944 में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अंग्रेज और भारतीय सेनाओ ने मिलकर “बैटल ऑफ़ कोहिमा ” में जापानी सेनाओ को पराजित किया था |
  • 1957 तक यह क्षेत्र नागा हिल्स त्वेनसांग के नाम से जाना जाता रहा |
  • 1961 में नागा हिल्स त्वेनसांग का नाम बदलकर नागालैण्ड Nagaland किया गया |
  • 01 दिसम्बर 1963 को नागालैंड Nagaland को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला |

नागालैंड की भौगालिक स्थिति | Geographical Facts of Nagaland in Hindi

  • नागालैंड उत्तर में अरुणाचल प्रदेश ,पश्चिम में असम , दक्षिण में मणिपुर और पूर्व में म्यांमार से घिरा हुआ है |
  • नागालैण्ड ब्रह्मपुत्र घाटी और बर्मा के बीच पहाडी इलाके की संकरी पट्टी में बसा हुआ है |
  • Nagaland नागालैंड की राजधानी कोहिमा और सबसे बड़ा शहर दीमापुर है |
  • प्रदेश में बरेल और जाम्फु पर्वत है तथा पर्वत शिखरों में सरामती, जाफ्फु और कोहिमा है |
  • राज्य में झांझी ,मेलक ,दोयोंग ,दिखू ,तीजू ,धनसिरी नदिया प्रमुख है | यहा लेचाम झील भी है |
  • राज्य का 20 प्रतिशत हिस्सा घने जंगलो से घिरा हुआ है |

नागालैंड की आर्थिक स्थिति | Economical Facts of Nagaland in Hindi

  • Nagaland नागालैण्ड की लगभग 68 प्रतिशत जनता कृषि पर निर्भर है |
  • प्रदेश में चावल , दाले ,ज्वार ,मक्का का उत्पादन किया जाता है |
  • राज्य में कुल खाद्यान में 75 प्रतिशत चावल है और यहा 80 प्रतिशत क्षेत्र में चावल की खेती होती है |
  • यहा झूम तरीके से खेती की जाती है |
  • नागालैंड में हथ करघा ,हस्तशिल्प ,चीनी ,सीमेंट ,टीवी सेट ,ईट ,रेशम सहित कई उद्योग है |
  • यहा चुना पत्थर ,स्लेट ,लौह अयस्क ,ताम्बा ,ग्रेनाईट खनिज निकाले जाते है |
  • नगालैंड की GDP लगभग 12065 करोड़ है
  • नागालैंड में साक्षरता दर 80 प्रतिशत है जो दुसरे राज्यों के मुकाबले कही अधिक है |
  • Nagaland नागालैंड की अधिकतर जनसख्या अंग्रेजी बोलती है जो यहा की आधिकारिक भाषा है |

परिवहन | Transportation Facts of Nagaland in Hindi

  • राज्य में सडको की कुल लम्बाई 26021 किमी है इसमें 365 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग है |
  • Nagaland नागालैंड से पांच राष्ट्रीय राजमार्ग गुजरते है और 8 प्रादेशिक राजमार्ग है |
  • रेल लाइन की कुल लम्बाई 13 किमी है जिसमे 11 किमी ब्रॉड गेज और 2 किमी मीटरगेज है |
  • यहा एकमात्र रेलवे स्टेशन एवं हवाई अड्डा दीमापुर में है
  • दीमापुर हवाई अड्डा दीमापुर से 7 किमी और कोहिमा से 70 किमी की दूरी पर है |

त्यौहार और संस्कृति | Culture and Festivals of Nagaland in Hindi

  • संगीत और नृत्य राज्य के जनजीवन के मुलभुत अंग है |
  • वीरता ,सुन्दरता ,प्रेम और उदारता का गुणगान करने वाले लोकगीत और लोकगाथाये पीढ़ी दर पीढ़ी चली आ रही है |
  • नागा संस्कृति में  नृत्य हर उत्सव का महत्वपूर्ण हिस्सा है |
  • हर त्यौहार पर दावत , नाच गाना और उल्लास होता है |
  • Nagaland नागालैण्ड एकमात्र ऐसा राज्य है जिसकी जनसंख्या 2001 से 2011 के बीच घटी है |
  • राज्य के महत्वपूर्ण त्योहारों में सेकरेन्यी ,मोआत्सू ,तोक्कू एन्गोमा और तुलनी शामिल है |
  • नागालैंड की सरकार ने सन 2000 से होर्निबल उत्सव का आयोजन शुरू किया है जो हर वर्ष 1 से 7 दिसम्बर को लगता है |
  • होर्निबल उत्सव यहा की के चिड़िया होर्निबल के नाम से रखा है जो यहा का राज्य पक्षी है |
  • होर्निबल उत्सव में नागालैंड की संस्कृति की झलक दिखती है |
  • नागालैंड में 16 मुख्य जनजातियाँ अंगामी , औ , चकसेंग ,चंग ,दिमासा कचारी ,खिअनिउग्म ,कोंयक ,लोथा ,फोम ,रेंगमा ,संगतम,सुमी ,यिम्चुन्गेर कुकी और जेलिआंग निवास करती है
  • कोंयक ,अंगामी ,आओस ,लोथास और सुमी सबसे बड़ी नागा जनजातियाँ है |

नागालैंड के पर्यटन स्थल | Tourist Places of Nagaland

  • कोहिमा – कोहिमा यहा की राजधानी है | यहा का वातावरण प्राकृतिक है | यहा घुमने लायक जगहों में कोहिमा संग्रहालय ,ओहिमा गाँव , दोझु कोई घाटी ,लुंग धाम गाँव ,माता यिमी क्यांग ,राज्य की सबसे ठंडी जगह फ्फ्त्सेरो आदि है | कोहिमा से 15 किमी की दूरी पर दक्षिण के जाफ्फु पीक है | यहा की पर्वत शृंखलाओं में रोड़ो ड्रेदोंन नामक वृक्ष मिलते है | इनकी ऊँचाई विश्व में सबसे अधिक है | इसलिए इनका नाम गिनीज बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में दर्ज है | इनके अलावा कोहिमा के अन्य पर्यटन स्थल ज़ुकोय घाटी ,शिलोय झील ,स्टेट म्यूजियम , द्वितीय विश्व युद्ध कब्रिस्तान , हेरिटेज म्यूजियम , खोनोमा गाँव , कोहिमा जन्तुआलय , इंटाकी वन्य जीव अभयारण्य आदि है |
  • दीमापुर – दीमापुर नागालैंड का प्रवेश द्वार और आर्थिक केंद्र है | प्रकृति प्रेमियों के यह स्थान स्वर्ग के समान है जहा के दृश्यों को देखकर मन मोहित हो जाता है | इतिहास प्रेमियों के लिए यहा आप कचारी खडं’हरो में 10वी शताब्दी की झलक देख सकते है | इसके अलावा यहा दीमापुर वन्य जीव पार्क ,ग्रीन पार्क रंगाफर रिज़र्व फारेस्ट , दिज़ेफ क्राफ्ट विलेज , हैंडलूम और हेंडीक्राफ्ट एम्पोरियम और बापिस्ट चर्च आदि मुख्य आकर्षण केंद्र है |
  • मोकोकचुआंग – मोकोकचुआंग को नागालैंड की सांस्कृतिक राजधानी भी कह सकते है जो नागालैंड का एक महत्वपूर्ण जिला भी है | हरी भरी पहाडियों से आच्छादित झरनों की मधुर आवाजे आपको यहा मन्त्रमुग्ध कर देगी | यह पारम्परिक भूमि त्योहारों के दिनों में खिल जाती है | हालांकि यहा की अधिकतर जनजातियो ने इसाई धर्म अपना लिया है फिर भी यहा उनके जनजातीय गुणों को आज भी उनमे देख सकते है | यहा के मुख्य आकर्षण केन्द्रों में चंग्किकोंग रेंज , लंगपंगकोंग गुफा , चंगटोंग्य , मोकोकचुआंग पार्क , मोकोकचुआंग संग्रहालय आदि प्रमुख है |
  • वोखा – लोथा जनजाति के निवास स्थान वोखा में आप जनाजातीय निवास को महसूस कर सकते है | यह जगह फ्लो से भरी हुयी है जहा पाइनएप्पल , संतरा जैसे कई फल लगते है | इस जगह की ख़ास बात यह है कि यहा पर खेती बिना कीटनाशको के उपयोग के जैविक तरीके से की जाती है | प्रकृति प्रेमी यहा घने जंगलो के बीच से गुजरती सडको का आनन्द ले सकते है | यहा के प्रमुख पर्यटन स्थलों में माउंट तियी ,तेहौरंग घाटी ,  दोयांग नदी , तोत्सू वोजु झील आदि प्रमुख है |
  • मोन– समुद्रतल से 897 मीटर की ऊंचाई पर स्थित मोन नागालैंड की एक लुभावनी जगह है जो आपको एक रहस्यमयी एहसास देगी | यहा से आप असम के मैदानों को सुंदर नजारा देख सकते है | इसके अलावा यह लोंगवा गाँव  चुई गाँव और श्नाग्युं गाँव देखने लायक स्थान है |
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *