खुशियाँ बांटने का पर्व है ईद-उल-फितर Eid ul Fitr Esaay in Hindi

Eid ul Fitr Esaay in Hindi

Eid ul Fitr Esaay in Hindiईद-उल-फितर Eid ul Fitr रमजान माह के खत्म होने के मौके पर मनाया जाता है | सैवियो में लिपटी मोहब्बत की मिठास का त्यौहार ईद-उल-फितर भूख प्यास सहन करके एक महीने तक सिर्फ खुदा को याद करने वाले रोजेदारो को अल्लाह का इनाम है |इस दिन विभिन्न धर्मो के लोग गिले शिकवे भुलाकर एक दुसरे के गले मिलते है और मीठी सैवियो अमूमन उनकी तल्खी की कडवाहट को मिठास में बदल देती है | दुनिया में चाँद को देखकर रोजा रखने और चाँद को देखकर ईद मनाने की पुराणी परम्परा है और आज के हाई टेक युग में भी यह रिवाज कायम है |

Eid ul Fitr ईद के दिन लोग सुबह सुबह उठकर गुस्ल करके नमाज पढने जाते है | जाते समय सफेद कपड़े पहनना और इत्र लगाना सही माना जाता है | सफेद रंग सादगी और पाकीजा निशानी माना जाता है | नमाज पढने से पहले खजूर खाने का भी रिवाज है | नमाज पढने से पहले गरीबो में दान यानि जकात बांटा जाता है | नमाज अदा करने के बाद सभी एक दुसरे से गले मिलते है और ईद की मुबारक बाद देते है | ईद पर मीठी सिवैया खिलाकर लोग रिश्तो की कडवाहट को खत्म करते है |

इस दिन ईदी देने का भी रिवाज है | हर बड़ा अपने से छोटे को अपनी हैसियत के हिसाब से कुछ रूपये देता है इसी रकम को ईदी कहते है | Eid ul Fitr ईद-उल-फितर समाज में भाईचारे को बढाता है और भारत जैसे देश में जहा हिन्दू मुस्लिम साथ रहते है वहा ईद-उल-फितर समाज में एकता बढाने का बहुत अच्छा काम करता है | ईद की नमाज अदा करने से पहले मीठा खाकर निकले और वापसी में दूध में भिगोया छुआरा खाय  | Eid ul Fitr ईद-उल-फितर में 13 चीजे सुन्नत है | मस्जिद जाने के क्रम में “अल्लाहु अकबर ” कहते जाना चाहिए और नमाज के बाद सबसे गले मिले औए सिवैया खाए |

Eid ul Fitr ईद का मतलब नये कपड़े पहनना और खुशबु लगाना ही नहे है बल्कि ईद का मतलब खुशिया बांटना और बेसहारो का सहारा बनना है | मौजूदा हालात में भारत 21वी सदी की ओर अग्रसर है लेकिन इन्सान के पास समय की कमी है | वह दुनियावी तालीम को हासिल कर लेता है पर दिनी तालीम कम ही हासिल कर पाता है | इन्सान के विकास के लिए दिनी और दुनियावी दोनों तरह की तालीम बेहद जरुरी है तभी लोगो का जेह्मी तौर पर विकास होगा | Eid ul Fitr ईद-उल-फितर के पाक मौके पर शपथ ले कि दुनियावी तालीम के साथ दिनी तालीम भी जरुर हासिल करे |

loading...
Loading...

One Comment

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *