Home यात्रा छत्तीसगढ़ राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य | Chhattisgarh Facts in Hindi

छत्तीसगढ़ राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य | Chhattisgarh Facts in Hindi

293
1
SHARE
छत्तीसगढ़ राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य | Chhattisgarh Facts in Hindi
छत्तीसगढ़ राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य | Chhattisgarh Facts in Hindi

छतीसगढ़ (Chhattisgarh) भारत का 29वा राज्य है जो देश के मध्य-पूर्वी इलाके में फैला हुआ है | छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh )आबादी के लिहाज से भारत का 17वा राज्य तथा क्षेत्रफल के लिहाज से 10वा राज्य है | छत्तीसगढ़ भारत के सबसे तेज गति से प्रगति के पथ पर चलने वाले राज्यों में से एक है | छत्तीसगढ़ राज्य का गठन 1 नवम्बर 2000 को हुआ | इसकी राजधानी रायपुर बनाई गयी |

मध्यप्रदेश पुनर्गठन विधेयक 1998 के द्वारा स्थापित छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की सीमाए ओडिशा , झारखंड , आंध्रप्रदेश , महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश से सटी हुयी है | छत्तीसगढ़ मूलतः एक ग्रामीण प्रदेश है | यहाँ की 82.56 प्रतिशत जनसंख्या 19,658 गाँवों में रहती है | आदिवासी बहुल बस्तर ,रायगढ़ एवं सरगुजा जिलो में ग्रामीण जनसख्या अधिक है | यहाँ प्रति हजार पुरुषो पर महिलाओं का औसत 991 है | शिक्षा की दृष्टि से पिछड़ा हुआ राज्य है |

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) राज्य की अर्थव्यवस्था कृषि प्रधान है | यहाँ की भूमि उपजाऊ एवं कीमती खनिजो से भरी पड़ी है | छत्तीसगढ़ का 70 प्रतिशत राजस्व इस क्षेत्र से मिलता है | राज्य की 85 प्रतिशत लोगो की आजीविका कृषि से ही चलती है | यहाँ पैदा किया जाने वाला मुख्य अनाज चावल है | इसी कारण छत्तीसगढ़ को धान का कटोरा भी कहते है | राज्य को 2010-11 के लिए भारत में धान उत्पादन में सर्वोच्च स्थान के लिए कृषि कर्मन पुरुस्कार दिया गया | इसके आलावा गेंहू , मक्का , कोदो ,ज्वार , बाजरा इत्यादि फसले भी पैदा होती है |

छत्तीसगढ़ राज्य एक नजर में 

क्षेत्रफल 135,191 वर्ग किमी
जनसंख्या 25,545,198 (2011 जनगणना ) देश में 17वा स्थान
जनसंख्या घनत्व 189 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी
लिंगानुपात 991 महिलायों पर 1000 पुरुष
साक्षरता दर 71.04%
राजधानी रायपुर
कुल जिले 27
मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह (भाजपा)
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल
विधानसभा सीटो की संख्या 90
लोकसभा सीटो की संख्या 11
राज्यसभा सीटो की संख्या  5
प्रथम मुख्यमंत्री अजित जोगी
प्रथम राजपाल डा.डी.एन.सहाय
राज्य पशु जंगली भैसा
राज्य पक्षी पहाडी मैना
राज्य फूल
राज्य वृक्ष साल
राज्य दिवस  01 नवम्बर
राज्य भाषा  हिंदी , उडिया ,मराठी , छत्तीसढ़ी

छत्तीसगढ़ का इतिहास

छत्तीसगढ़ की पहली कल्पना प.सुन्दरलाल ने सन 1918 में की थी और इसका बुनियादी आधार उजागर रूप में सन 1956 के पूर्व उस समय पड़ा जब डा.खूबचंद बघेल ने पुराने मध्यप्रदेश के रविशंकर शुक्ल मंत्रीमंडल के ससंदीय सचिव पद लेकर वे रायपुर आये | सन 1956 में इस मांग ने विशेष स्वरूप पकड़ा | राज्य पुनर्गठन आयोग्के कार्यकाल में जब नया मध्यप्रदेश बन रहा था उसी समय छत्तीसगढ़ ने अलग राज्य होने की मांग रखी | बरार में बृजलाल बियानी जी के नेतृत्व में आन्दोलन हुआ | छत्तीसगढ़ में पृथक छत्तीसगढ़ की मांग को लेकर आवाज उठाई गयी पर आन्दोलन नही हुए | विचारो के मतभेद के कारण आन्दोलन का सही स्वरूप खड़ा नही हो सका |

सन 1957 में छत्तीसगढ़ महासभा का रायपुर में एक सम्मलेन हुआ जिसमे कांग्रेस समाजवादी अरु साम्यवादी दल तथा कुछ ऐसे लोग जो इस माग में सहमत थे शामिल हुए | इस सम्मेलन की विषय निर्वाचन समिति की बैठक में कहा गया कि इस मांग को गैर राजनितिक स्वरूप प्रदान करने हेतु सांसद एवं विधायक अपने अपने दल से अलग हो जाए इस पर एक सहमत नही हुए |  सन 1956 में भिलाइ इस्पात कारखाने के लगभग 1500 मजदूरों की छटनी का मामला सामने आया | इस विषय को लेकर छत्तीसगढ़ मजदूर कल्याण सभा का गठन हुआ और मजदूरों की छटनी को लेकर आन्दोलन प्रारभ हुआ |

इस आन्दोलन से जुड़े नेताओं के मन में छत्तीसगढ़ी और गैर छत्तीसगढ़ी की परिभाषा का अन्तर्द्वन्द चला और 1968 में इस सन्दर्भ में भातसंघ की स्थापना हुयी | सभी ने एक मंच पर आकर भातसंघ की सदस्यता को बढ़ावा दिया | इसके बाद 1967 में पुन: छत्तीसगढ़ का प्रश्न आया था और सन 1972 के आम चुनाव तक यह मामला लगभग ठंडा रहा पर 1977 के आम चुनाव के बाद पुन: इस विषय पर जोर पड़ना आरम्भ हुआ | इसी बीच रायपुर में एक बैठक हुयी जिसमे दावा किया गया कि 90 विधायको के हस्ताक्षर एवं समर्थन मिल गये है और पृथक छत्तीसगढ़ प्रदेश की मांग पुरी की जाए | रायपुर में 26 जनवरी 1980 को पृथक छत्तीसगढ़ राज्य गठित करने की मांग पर जोर दिया गया |  इसके बाद अनंत: 1 नवम्बर 2000 को छत्तीसगढ़ राज्य का सपना पूरा हुआ |

छत्तीसगढ़ के जिले उनका क्षेत्रफल एवं जनसंख्या

जिले का नाम जनसंख्या (2011) क्षेत्रफल (km²) घनत्व(/km²)
बालोद 826,165 3,527 234
बालोद बाजार 1,305,343
बलरामपुर 598,855 3,806 157
बस्तर 1,302,253 4,030 87
बेमेतरा 197,035 2,855 69
बीजापुर 229,832 6,562 35
बिलासपुर 1,961,922 5,818 337
दंतेवाडा 719,065 3,411 211
धामतरी 703,569 2,029 347
दुर्ग 1,721,726 2,238 769
गरियाबंद 597,653 5,823 103
जंगजीर 1,619,707 4,466 363
जशपुर 775,607 6,457 120
कबीरधाम 584,667 4,447 131
कांकेर 651,333 6,424 101
कोंडागाँव 578,326 7,769 74
कोरबा 1,206,563 7,145 169
कोरिया 586,327 5,978 98
महासमुंद 1,032,754 4,790 216
मुंगली 701,707
नारायणपुर 140,206 7,010 20
रायगढ़ 1,493,627 5,031 297
रायपुर 2,160,876 12,383 175
राजनन्दगाँव 1,537,133 8,070 190
सुकमा 249,841 5,636 46
सूरजपुर 660,280 2,787 237
सुरगुजा 840,352 16,359 51

छत्तीसगढ़ की संस्कृति

प्रमुख उत्सव चक्रधर समारोह (रायगढ़ ) , रहस समारोह (बिलासपुर), पंडवानी प्रसंग (सम्पूर्ण क्षेत्र )
लोकनृत्य सुआ नृत्य, करमा नृत्य, दंडा या रहस नृत्य , राउत नृत्य , सरहुल नृत्य , बार नृत्य , नाचा नृत्य , धासियाबाना नृत्य ,पंथी नृत्य |
प्रमुख जनजाति गोंडा , बैंगा , कोरबा , उंराव , हल्वा , भतरा , कमार , माडिया |
प्रमुख मेले राजिम का मेला (रायपुर) , चम्पारण का मेला , रतनपुर का मेला (बिलासपुर) , खल्लारी का मेला (महासमुंद) , दंतेश्वरी का मेला (दन्तेवाडा) |

कृषि उपज एवं उत्पादक क्षेत्र

चावल दुर्ग , रायपुर , राजनादगाँव , बिलासपुर ,सरगुजा , बस्तर आदि
गन्ना रायपुर , बिलासपुर ,बस्तर
तुअर राजनादगाँव ,क्र्वर्धा
सरसों कोरिया , दंतेवाडा , सरगुजा
बाजरा बस्तर , रायगढ़ , जशपुर
अलसी राजनादगाँव , क्र्वर्धा , दुर्ग , रायपुर
चना  बिलासपुर , राजनादगाँव , कवर्धा , दुर्ग , जांजगीर

प्रमुख खनिज एवं खनिज उत्पादन क्षेत्र

खनिज उत्पादन क्षेत्र
मैगनीज बिलासपुर , कांकेर , बस्तर
बोक्साइट रायगढ़ , सरगुजा , बिलासपुर , कोरबा , कवर्धा
कोयला कोरिया , सरगुजा , जांजगीर , बिलासपुर , रायगढ़ ,जशपुर
लौह अयस्क बस्तर , रायपुर , बिलासपुर , राजनादगाँव , दुर्ग
ताम्बा बस्तर , राज्नादगाँव , बिलासपुर
चुना पत्थर रायगढ़ , बिलासपुर, दुर्ग , रायपुर
डोलोमाईट बिलासपुर , दुर्ग , रायपुर , बस्तर , रायगढ़ , जांजगीर
अभ्रक जशपुर , जगदलपुर
युरेनियम सरगुजा , बिलासपुर
हीरा रायपुर , बस्तर
सिलीमेनाइट बस्तर , दंतेवाडा
एस्बेस्टस बस्तर ,दुर्ग
टिन अयस्क बस्तर ,दंतेवाडा
कोरंडम कुचनुर (बस्तर)
गेरू सरगुजा , बस्तर , रायगढ़ , राजनादगाँव
फ्लोराईट राजनादगाँव ,रायगढ़ , रायपुर

छत्तीसगढ़ में परिवहन

छत्तीसगढ़ में रेल लाइन की लम्बाई 1000 किमी तथा सडको की लम्बाई 20,000 किमी है | रायपुर हवाई अड्डा से दिल्ली , मुम्बई , कलकत्ता आदि शहरों तक वायु सेवा उपलब्ध है | राज्य में सडको की कुल लम्बाई 33,448 किमी है तथा राष्ट्रीय राजमार्गो की संख्या 2226 किमी है |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here