More stories

  • in

    Interesting Facts of Gujarat in Hindi | गुजरात से जुड़े रोचक तथ्य

    गुजरात राज्य (Gujarat) भारत देश के समृद्ध राज्यों में से एक है। 1 मई 1960 के दिन स्थापित हुए गुजरात राज्य (Gujarat) की राजधानी गांधीनगर है। Dominos और Subway कंपनी द्वारा सबसे पहले शाकाहरी आउटलेटस गुजरात में खोले गये हैं। गुजरात (Gujarat) एक विकासशील-प्रगतिशील राज्य होने के कारण विदेशी निवेश हासिल करने के मामले में […] More

  • in

    लद्दाख से जुड़े 15 रोमांचक तथ्य | Ladakh Facts in Hindi

    लद्दाख (Ladakh) भारत का एक ऐसा प्रदेश है जो भारत के सुदूर उत्तर में हिमालय की घाटियों में बसा हुआ है | अपनी प्राकृतिक और बर्फीली वादियों के कारण यह पर्वतारोहियों और रोमांच प्रेमी व्यक्तियों के लिए एक बढिया जगह है | आइये आज हम आपको लद्दाख से जुड़े कुछ ऐसे रोमांचक तथ्य बतायेंगे जिससे […] More

  • in

    नैनीताल , प्रकृति और सौन्दर्य का सुरताल | Nainital Tourism Guide in Hindi

    कुमाऊँ क्षेत्र के छखाता परगना में स्थित नैनीताल भारत के सर्वाधिक लोकप्रिय हिल स्टेशनों में शामिल है | अंचल में कभी साठ मनोरम ताल थे | वैसे आज भी नैनीताल जिले में सबसे अधिक ताल है इसलिए इसे झीलों का शहर कहा जाता है | सत्य तो यह है कि प्रकृति से सौन्दर्य की सुरताल […] More

  • in

    Facts about Sikkim in Hindi | सिक्किम से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

    सिक्किम का इतिहास | History of Sikkim in Hindi सिक्किम के प्रारम्भिक इतिहास के बारे में बहुत कम जानकारी उपलब्ध है | माना जाता है कि 17वी शताब्दी में फ्न्तासोंग , नामग्याल राजवंश के पहले राजा थे | इसी राजवंश ने 1975 में भारतीय संघ में सिक्किम के विलय तक इस क्षेत्र पर शासन किया | […] More

  • in

    पर्यटन दिवस विशेष – लोगो को एक सूत्र में पिरोते है धर्मस्थल | National Tourism Day India Special in Hindi

    एतेरेय ब्राह्मण में लिखा है कलि” शयानो भवति , संजिहानस्तु द्वापर: | उतिष्ठन  त्रेता भवति ,कृत स्पन्द्व्ते चरन || चरैवेति ,चरैवति अर्थात जन मनुष्य सोया रहता है वह कलियुग में होता है | जब वह बैठ जाता है तब द्वापर में होता है जब उठ खड़ा होता है तब त्रेतायुग में तथा जब चलने लगता […] More

  • in

    मकर सक्रांति पर लगनेवाले ख़ास मेले | Makar Sakranti Fairs Significance in Hindi

    भारत में उत्सव के दौरान मेला एक ख़ास आकर्षण होता है वैसे भी मेले हमारी सांस्कृतिक ,सामाजिक और आर्थिक जीवन के केंद्र है मकर सक्रांति के दिन नदियों,ताल-तलैयों में स्नान कर दान करने की प्रथा रही है यह प्रथा अत्यंत प्राचीनकाल से चली आ रही है ऐसे में लोगो की आस्था और भीड़ मेले अक […] More