अलिफ़ लैला की कहानी – एक बुढा आदमी और एक बकरी Arabian Nights Story-The Old Man and the Goat

The Old Man and one Goatअब दुसरे बूढ़े राहगीर ने अपनी कहानी सुनाना शुरू किया “ये तुम मेरे साथ देख रहे हो ये मेरी पत्नी है , मैं तुम्हे इसकी कहानी सुनाता हु ”

loading...

मेरी शादी को कई साल हो गये थे और कोई सन्तान नही थी इसलिए मैंने दूसरी शादी कर ली | मेरी दुसरी पत्नी से एक बच्चे का जन्म हुआ लेकिन मेरी पहली पत्नी उस बच्चे और उसकी माँ से बहुत इर्ष्या करती थी | जब वो 10 साल का हुआ तब मुझे एक साल के लिए यात्रा को जाना था इसलिए मैंने अपनी पहली पत्नी को दोनों का ध्यान रखने को कहा | मेरे गैर मौजूदगी में उसने जादू टोना सिख लिया और उस बच्चे को एक मेमने में बदलकर उसे एक कसाई को बेच दिया और उसका ध्यान रखने को कहा | इसी तरह उसने जादू टोने से मेरी दुसरी पत्नी को बकरी बना दिया और उसे भी एक कसाई को देकर उसका ध्यान रखने को कहा |

जब एक साल बाद मै घर लौटा तो मेरी दुसरी पत्नी और बच्चा घर पर नही था | मैंने अपनी पहली पत्नी से उन दोनों का पता पूछा तो उसने बताया कि मेरी पहली पत्नी की तो मौत हो चुकी है और बेटा कई महीनों से लापता है | मै ये सुनकर दुःख में सागर में डूब गया कि मेरा पूरा परिवार बर्बाद हो गया | 8 महीने गुजरने के बाद भी मेरे बेटे का पता नही चला | कुछ दिनों बाद मेरी पत्नी ने मुझे बताया कि उसने एक बकरी और एक मेमने की बलि के लिए मन्नत माँगी थी उसे पूरा करने का समय आ गया है | मैंने अपनी पत्नी की बात मानते हुए बलि के लिय तैयार हो गया | मेरी पहली पत्नी बलि के लिए मेरी दुसरी पत्नी को लेकर आयी जिसे उसने जादू से बकरी बना दिया था |

मैं जैसे ही उसे मारने लगा , मैंने उसकी आँखों में आसू देखे और मैंने बलि के लिए मना कर दिया | मेरी पत्नी ने उसे कसाई को मारने के लिए सौंप दिया | फिर मेरी पत्नी मेरे बेटे को लेकर आयी जिसे उसने जादु से मेमना बना दिया और उसको मारने को बोला लेकिन उसकी आँखों में भी आंसू देखकर मैंने फिर मना कर दिया | तभी उस कसाई की बेटी वहा आयी जो भी जादू टोना जानती थी उसने मुझे बताया कि मेरी पहली पत्नी ने इर्ष्या के कारण जादू से मेरे बेटे को मेमना और पत्नी को बकरी बना दिया था | मुझे पहले तो उसकी बातो पर विशवास नही हुआ लेकिन बाद में उसने अपने जादू से मेमने को फिर मेरे बेटे के रूप में लाकर खड़ा कर दिया | मेरे बेटे को देखकर मै खुश हो गया लेकिन मेरी पत्नी को तो कसाई मार चूका था | उस कसाई ने बताया कि मरने के बाद वो बकरी राख बन गयी |

मेने उस लडकी का शुक्रिया कहा और अपने बेटे से उसके साथ निकाह का प्रस्ताव रखा | वो लडकी मान गयी लेकिन निकाह से पहले उसने मेरी पत्नी को बकरी में बदल दिया और बताया कि मुझे इसकी प्राकृतिक मौत मरने तक उसकी सेवा करने को कहा | तब से मै इस बकरी को साथ लेकर दर दर भटक रहा हु |

अब उस दुसरे बूढ़े राहगीर ने जिन्न से कहा “ए जिन्न अगर तुझे मेरा किस्सा पसंद आया तो इस नेक आदमी का आधा गुनाह भी माफ़ कर दे “| जिन्न को उसका किस्सा भी बहुत पसंद आया और उसने उस व्यापारी की जान बक्श दी | उस व्यापारी ने उन दोनों राहगीरों को जान बचाने के लिए शुक्रिया कहा और वापस अपने घर की ओर निकल पड़ा | घर पहुचते ही उस व्यापारी के घर वाले बहुत खुश हुए और खुशी खुशी जीवन बिताने लगे |

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *