सीख दे गये सांता क्लॉज | A Santa Claus Story in Hindi

क्रिसमस की सुबह पीटर उदास था | पापा ने इसका कारण पूछा तो वह कहने लगा “पापा …मेरा दोस्त जॉन कह रहा था कि आज सुबह उसे सांता क्लॉस उपहार देंने आया था ……लेकिन मुझसे तो फादर Santa Clause मिलने ही नही आये …|”

पीटर के पापा बोले “Santa Clause उन्ही बच्चो को मिलने आते है जो माता पिता का कहना मानते है …..और तुम तो अपने माता पिता का कहना मानना जानते ही नही हो  | तुम्हे पढने के लिए कहो तो टालमटोल करते हो | स्कूल से आते ही अपना बैट और बॉल लेकर सारा दिन क्रिकेट खेलते हो…..तभी तुम्हारे Marks इस बार बहुत कम आये है ……जानते हो जॉन अपने माता पिता का कहना मानता है और पढाई में भी तुमसे कही होशियार है ….|”

पापा की बात सुनकर पीटर को जॉन से थोड़ी चिढ हुयी और वह मुह फुलाकर अपने कमरे में चला गया | क्रिसमस के त्यौहार पर पीटर की माँ उसके लिए बढिया पकवान बना कर लाई तो उसने एक भी नही चखा |

रात को पीटर जब अपने कमरे में सो रहा था किसी ने उसे हिलाकर जगाया | पीटर ने देखा तो हैरानी मिश्रित आवाज में बुदबुदाया  “Santa Clause…|” उसके सामने Santa Clause खड़ा था | सेंटा मुस्कुराया और प्यार से पीटर की ठोडी पकडकर बोला “कैसे हो पीटर ….?” तुमने अपना पापा से सवाल किया था न कि मै तुमसे मिलने क्यों नही आता ..?

“हां …मगर …आप को यह कैसे पता चला …?” पीटर ने पूछा

“मुझे सब पता है मै तो ये भी जानता हु कि तुम पढाई मे मन नही लगाते और सारा दिन खेल खुद में बिताते ही …..क्या यह सही है …?” सेंटा ने पीटर को करीब बैठते हुए कहा |

पीटर ने सिर झुका लिया और कुछ पल रुककर बोला “क्या करू , मेरा मन पढाई में नही लगता ..”

सेंटा ने पीटर को समझाते हुए कहा “लगेगा यदि तुम रोजाना नियम से पढने बैठो …..पहले तुम्हे थोडा मुश्किल होगा फिर आदत पड़ जायेगी …देखो तुम्हारे माता पिता तुम्हारे भले के लिए ही तुम्हे पढने को कहते है ..वह तुम्हारे भविष्य को उज्ज्वल बनाने के लिए कितन खर्च करते है ……तुमसे उम्मीदे है उन्हें ….उनका कहना मानना तुम्हारा फर्ज है | जो बच्चे बडो का कहना नही मानते उनसे गॉड भी नाराज हो जाते है क्या तुम मेरा कहना मानोगे ?”

पीटर उलझन में पड़ गया |  सांता क्लास ने फिर पूछा “देखो मै तुमसे खासतौर पर मिलने आया हुआ ….क्या तुम मुझसे इतना वादा नही करोगे …..मुझे खाली हाथ लौटा दोगे”

“नही…मै वादा करता हु जो आप कह रहे है वही होगा …..मै कल से पढाई में मन लगाऊंगा ……माता पिता का कहना भी मानूंगा ” पीटर ने सेंटा क्लॉज़ से वादा किया | खुश होकर सेंटा क्लॉज़ ने उसे ढेर सारे उपहार दिए और फिर अगले वर्ष मिलने का वादा देकर वहा से चला गया |

सुबह पीटर जगा तो काफी देर तक सेंटा क्लॉस के बारे में सोचता रहा | फिर उसने कुछ फैसला किया और अपने पापा से बोला “पापा आज मुझे रोजाना मन लगाकर पढने के लिए कहते थे न , आज से मै स्कूल से घर आकर भी पढूंगा और आपका कहना भी मानूंगा ….I Promise You” पीटर के पापा ने उसे गले से लगा लिया | कल रात सेंटा क्लॉज़ का भेष बनाकर वह पीटर के कमरे में आये थे ताकि पीटर को उसकी इच्चानुकुल खुशी भी दे सके और सही दिशा भी |

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *